नई दिल्ली: दुनिया भर में कई कंपनियां अपने कार्यस्थल और उसके बनावटों में बदलाव कर रही हैं. ऐसे में कंपनियां अपने कर्मचारियों की जरूरतों के प्रति अधिक संवेदनशील हो रही हैं. बदलते समय के साथ एक जापानी कंपनी अपने नियमों में कुछ बदलाव किए हैं. कंपनी ने अपने कुछ कर्मचारियों को साल भर में 6 अतिरिक्त छुट्टियां देने की कवायद शुरू की है. इसका फायदा सिर्फ वही कर्मचारी उठा सकते हैं जो धूम्रपान नहीं करते हैं. ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि खाली समय में धूम्रपान न करने वाले कर्मचारी धूम्रपान करने वालों से न मिल सके और उनको आराम मिले.

अपने प्यार की तलाश में 1300 किमी चला बाघ, 6 जिलों में 150 दिनों तक घूमता रहा

नीति में बदलाव क्यों?

धूम्रपान की संस्कृति जापान में काफी प्रचलित है. इस बात को लेकर मार्केटिंग फर्म ‘पियाला’ के एक धूम्रपान न करने वाले कर्माचारी ने इसकी शिकायत दर्ज कराई. शिकायत में कहा गया था कि धूम्रपान की वजह से काम के स्तर में गिरावट हो रही है. इस बात को कंपनी ने गंभीरता से लिया. इसके बाद कंपनी ने अपने नियमों में बदलाव किया. जापानी कंपनी ने धूम्रपान न करने वाले कर्मचारियों को मुआवजे के रूप में प्रति वर्ष छह अतिरिक्त छुट्टियां देने की पेशकश की है.

TikTok पर इस युवती के हैं 1 करोड़ से भी ज्यादा फॉलोअर्स, पड़ती है बॉडीगार्ड की जरूरत

प्रोत्साहन से छूटेंगी बुरी आदतें

कंपनी ने अपनी पॉलिसी में परिवर्तन इसलिए किया ताकि लोगों को दंड देने के बजाय सामने वाले को प्रोत्साहन दिया जाए. इससे खुद ब खुद लोगों में बुरी आदतों के प्रति चेतना जागेगी, जिससे वह इससे दूर होने के बारे में सोचने को मजबूर हो जाएंगे. मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, कंपनी के सीईओ, ताकाओ असुका को उम्मीद है कि इस नीति परिवर्तन से कर्मचारियों को धूम्रपान छोड़ने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा. इस नियम को लागू करने के बाद से कुल 42 कर्मचारियों में से 4 कर्मचारियों ने धुम्रपान छोड़ भी दिया है.