Water On Moon Memes: अमेरिकी स्पेस एजेंसी NASA ने आखिरकार चंद्रमा पर पानी होने की पुष्टि कर दी है. नासा ने कहा है कि उनके मिशन SOFIA से पता चला है कि चंद्रमा की सतह पर पानी है. इस खबर के आते ही दुनिया भर के लोग रोमांचित हैं. पर ऐसे लोगों की भी कमी नहीं है जिन्होंने मीम्स की बरसात कर दी है. Also Read - फिल्म में न्यूड सीन देकर मचाया था तहलका, Amala paul ने फिर शेयर की दिलकश बिंदास तस्वीरें...

नासा ने ट्वीट कर ये जानकारी दी थी. ट्वीट कर बताया था,
ICYMI… using our @SOFIATelescope, we found water on the Moon’s sunlit surface for the first time. Scientists think the water could be stored inside glass beadlike structures within the soil that can be smaller than the tip of a pencil. Also Read - Amazing: खाना खाते हुए भी शख्स ने नहीं उतारा मास्क, वायरल हुआ वीडियो

देखें- Also Read - Viral Alert! अमायरा दस्तूर की शॉर्ट ड्रेस में नई तस्वीरें, गुलाबी शाम सा खिलता हुस्न देखकर मदहोश हो गए

Water On Moon Memes: अमेरिकी स्पेस एजेंसी NASA ने आखिरकार चंद्रमा पर पानी होने की पुष्टि कर दी है. नासा ने कहा है कि उनके मिशन SOFIA से पता चला है कि चंद्रमा की सतह पर पानी है. इस खबर के आते ही दुनिया भर के लोग रोमांचित हैं. पर ऐसे लोगों की भी कमी नहीं है जिन्होंने मीम्स की बरसात कर दी है.

नासा ने ट्वीट कर ये जानकारी दी थी. ट्वीट कर बताया था,
ICYMI… using our @SOFIATelescope, we found water on the Moon’s sunlit surface for the first time. Scientists think the water could be stored inside glass beadlike structures within the soil that can be smaller than the tip of a pencil.

देखें-

अब लोग ऐसे-ऐसे मीम्स शेयर कर रहे हैं, जिन्हें पढ़कर आप हंसे बिना रह पाएंगे.

 

बता दें कि यह खोज नासा और जर्मन एयरोस्पेस सेंटर की संयुक्त परियोजना इन्फ्रारेड एस्ट्रोनॉमी (एसओएफआईए-सोफिया) के लिए स्ट्रैटोस्फेरिक वेधशाला का उपयोग करके की गई है.

नेचर एस्ट्रोनॉमी जर्नल में प्रकाशित परिणामों से पता चलता है कि पानी या तो छोटे उल्कापिंड के प्रभाव से बना है या सूर्य से निकले ऊर्जा के कणों से पैदा हुआ है. इससे पता चलता है कि पानी चंद्रमा के ठंडे क्षेत्रों तक ही सीमित नहीं है और इसे चांद की पूरी सतह पर पाया जा सकता है.

शोध से पचा चला है कि चांद की सतह पर एक घन मीटर मिट्टी में लगभग 12-औंस की बोतल के बराबर पानी है.

अब लोग ऐसे-ऐसे मीम्स शेयर कर रहे हैं, जिन्हें पढ़कर आप हंसे बिना रह पाएंगे.

बता दें कि यह खोज नासा और जर्मन एयरोस्पेस सेंटर की संयुक्त परियोजना इन्फ्रारेड एस्ट्रोनॉमी (एसओएफआईए-सोफिया) के लिए स्ट्रैटोस्फेरिक वेधशाला का उपयोग करके की गई है.

नेचर एस्ट्रोनॉमी जर्नल में प्रकाशित परिणामों से पता चलता है कि पानी या तो छोटे उल्कापिंड के प्रभाव से बना है या सूर्य से निकले ऊर्जा के कणों से पैदा हुआ है. इससे पता चलता है कि पानी चंद्रमा के ठंडे क्षेत्रों तक ही सीमित नहीं है और इसे चांद की पूरी सतह पर पाया जा सकता है.

शोध से पचा चला है कि चांद की सतह पर एक घन मीटर मिट्टी में लगभग 12-औंस की बोतल के बराबर पानी है.