Neet Topper: अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाने वाली उत्तर प्रदेश के कुशीनगर की छात्रा आकांक्षा सिंह ने देश भर में उत्तर प्रदेश का नाम रौशन किया है. नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेस एग्जामिनेशन (नीट) में पूरे अंक हासिल कर इतिहास बनाने वाली आकांक्षा एम्स दिल्ली से एमबीबीएस करने के बाद न्यूरो सर्जरी में शोध करना चाहती हैं.

एक इंटरव्यू में आकांक्षा ने कहा है कि वे एम्स दिल्ली से एमबीबीएस करने के बाद न्यूरो सर्जरी में शोध करना चाहती हैं. वे मानती हैं कि लक्ष्य हमेशा ऊंचा रखना चाहिए.

आकांक्षा कहती हैं कि लक्ष्य को हासिल करने के लिए रणनीति बनाकर प्रयास करना चाहिए. हार्ड वर्क के साथ स्मार्ट वर्क भी सफलता के लिए जरूरी है. असफलता से हताश न हों. उसकी वजह तलाशें और लक्ष्य हासिल करने के लिए फिर से जी-जान से जुट जाएं. उन्होंने कहा कि मेरे लिए यह सपना साकार होने जैसा है.

उन्होंने कहा कि यूपी में शुरू किए गए मिशन शक्ति से बहुत प्रेरणा मिली है. आकांक्षा ने नारी सशक्तीकरण को लेकर शुरू किए गए इस अभियान के लिए सीएम योगी को धन्यवाद दिया.

आकांक्षा शुरू से ही मेधावी रहीं हैं. हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की शिक्षा उन्होंने क्रमश: नवजीवन मिशन स्कूल और दिल्ली के प्रगति पब्लिक स्कूल से हासिल की है. इन दोनों परीक्षाओं में उनके नंबर क्रमश: 97.6 और 96.4 फीसद रहे. पहले ही प्रयास में उन्होंने नीट जैसी सम्मानित देश स्तरीय परीक्षा में पहला स्थान हासिल किया.

बता दें कि हाल ही में आए नीट के परिणाम के बाद से कुशीनगर निवासी आकांक्षा सिंह ने नीट-2020 में 720 में पूरे 720 अंक लाकर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया है. हालांकि उम्र कम होने की वजह से आकांक्षा को दूसरी रैंक दी गई.
(एजेंसी से इनपुट)