जाने इतिहास में क्यों महत्वपूर्ण है आज की तारीख – 1974 में आज ही के दिन मुस्कुराये थे बुद्ध ! जी हां चौंकिए मत क्योंकि आज ही के दिन भारत ने तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की अगुवाई में पहला परमाणु परिक्षण किया था. इस परमाणु परीक्षण अभियान का कोड वर्ड था “Smiling Buddha” यानि बुद्ध मुस्कुराए. 18 मई 1974 को 5 परमाणु शक्ति सम्पन्न देशों के बाद भारत ने परमाणु परीक्षण का साहस किया था.

दुनिया में हर दिन कुछ न कुछ अच्छा और बुरा घटित होता है. इनमें से कुछ घटनाएं वक्त के साथ भुला दी जाती हैं और कुछ इतिहास के पन्नों में दर्ज हो जाती हैं. 1974 को आज के दिन की एक ऐसी अहम घटना इतिहास में दर्ज है, जिसने भारत को दुनिया के परमाणु संपन्न देशों की कतार में खड़ा कर दिया. भारत ने आज ही के दिन राजस्थान के पोखरण में अपना पहला भूमिगत परमाणु परीक्षण किया था. इस परीक्षण को ‘स्माइलिंग बुद्धा’ का नाम दिया गया था. यह पहला मौका था जब संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के पांच स्थायी सदस्य देशों के अलावा किसी और देश ने परमाणु परीक्षण करने का साहस किया.

18 मई को इतिहास में दर्ज कुछ चुंनिंदा घटनाएं इस प्रकार हैं –
18 मई 1912 को पहली भारतीय फीचर लेंथ फिल्‍म श्री पुंडा‍लिक रिलीज हुई थी.
18 मई 1933 के ही दिन एच डी देवगौड़ा भारत के बारहवें प्रधानमंत्री बने थे.
18 मई 1974 को राजस्थान के पोख़रण में पहले भूमिगत परमाणु परीक्षण के साथ भारत परमाणु शक्ति संपन्न देश बना.
18 मई 1991 के दिन ब्रिटेन की पहली ऐस्ट्रॉनॉट हेलेन शर्मन ने अंतरिक्ष के लिए उड़ान भरी.
18 मई 2009 को श्रीलंका सरकार ने 25 साल से तमिल विद्रोहियों के साथ हो रही जंग के खत्म होने का एलान किया. सेना ने देश के उत्तरी हिस्से पर कब्जा किया और लिट्टे प्रमुख वेलुपिल्लई प्रभाकरन को मार डाला गया.
18 मई 1994 के दिन गाजा पट्टी क्षेत्र से अन्तिम इस्रायली सैनिक टुकड़ी हटाए जाने के साथ ही क्षेत्र पर फ़िलिस्तीनी स्वायत्तशासी शासन पूर्णत: लागू हुआ.
18 मई 2004 के ही दिन इस्रायल के राफा विस्थापित कैम्प में इस्रायली सैनिकों ने 19 फ़िलिस्तीनियों को मौत के घाट उतारा था.
18 मई को पोखरण परमाणु परीक्षण दिवस (1974) और अन्तरराष्ट्रीय संग्रहालय दिवस भी मनाया जाता है.
(इनपुट एजेंसी )