तिरुवनंतपुरम. लोकसभा चुनाव के बाद केरल की एक महिला सांसद ने देशभर का ध्यान अपनी ओर खींचा था. मजदूर की बेटी के राजनीतिक सफर और सांसद बनने की खबरों ने मीडिया में खूब सुर्खियां बटोरी थी. यह सांसद और कोई नहीं, केरल के अलाथुर (Alathur Lok Sabha Seat) से सीपीएम के दिग्गज नेता पीके बीजू को हराने वाली राम्या हरिदास (Ramya Haridas) थीं. राहुल गांधी के टैलेंट-सर्च अभियान के जरिए राजनीति में आई राम्या हरिदास ने बहुत गरीबी में जीवन बिताया है. सांसद बनने से पहले वह समाज के वंचित तबकों की लड़ाई लड़ रही थी. उनके जज्बे और हिम्मत की तारीफ केरल के विपक्षी दलों के नेता भी करते हैं. यही वजह है कि कांग्रेस पार्टी ने अपने इस युवा नेत्री और पहली बार सांसद बनने वाली राम्या के लिए कुछ खास करने का ‘प्लान’ बनाया है.

दरअसल, कांग्रेस सांसद राम्या हरिदास के पास अपनी कार नहीं है. उनके घर की आर्थिक स्थिति कमजोर है. इसके मद्देनजर केरल में युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पार्टी की युवा सांसद राम्या हरिदास को कार देने के लिए ‘‘क्राउड फंडिंग’’ के जरिये धन जुटाने का फैसला किया है. राज्य से इस बार राम्या एकमात्र महिला लोकसभा सांसद हैं. संसद के निचले सदन में अलाथुर संसदीय क्षेत्र की प्रतिनिधि के सम्मान में यूथ कांग्रेस की इस मुहिम को सोशल मीडिया में काफी सराहना मिल रही है.

युवा कांग्रेस के अलाथुर इकाई के अध्यक्ष पलायम प्रदीप ने अपनी फेसबुक पोस्ट में कहा, ‘‘हमलोग आम जनता से नहीं बल्कि खासतौर पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच क्राउड फंडिंग की योजना बना रहे हैं. हालांकि अगर कोई इसमें योगदान करना चाहता है तो वह कर सकता है.’’ उन्होंने बताया कि केरल विधानसभा में विपक्ष के नेता नौ अगस्त को सांसद को वाहन की चाबी सौपेंगे. इस बीच राम्या हरिदास ने कहा कि इस फैसले से वह खुश हैं और गौरवान्वित महसूस कर रही हैं.

(इनपुट – एजेंसी)