पटना/दरभंगा: केंद्रीय मंत्री और भाजपा सांसद गिरिराज सिंह ने पटना में बारिश के कारण हुए जलजमाव को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए शुक्रवार को कहा कि ‘ताली’ सरदार को, तो ‘गाली’ भी सरदार को .

गिरिराज से यह पूछे जाने पर कि पटना में जलजमाव के लिए कौन जिम्मेदार है, उन्होंने कहा कि अगर गंगा नदी की बाढ से यह शहर डूबा होता तो कोई बात होती, कहीं न कहीं कुव्यवस्था के कारण ऐसा हुआ है.

उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर परोक्ष रूप से निशाना साधा और कहा कि ताली सरदार को, तो गाली भी सरदार को.

यह पूछे जाने पर कि क्या उनका निशाना मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर है तो गिरिराज ने कहा, ‘‘ जिस पर भी हो, वह आप बेहतर तौर पर जानते हैं . मैं तो इतना ही जानता हूं कि ‘ताली’ सरदार को तो ‘गाली’’ भी सरदार को.’’

इससे पूर्व दरभंगा के लहेरियासराय थाना अंतर्गत गोविंदपुर मुहल्ले में मां दुर्गा की आरती में शामिल होने के बाद मीडिया से बात करते हुए गिरिराज ने कहा, ‘‘पटना में बारिश के पानी के कारण बाढ की विभीषिका से लोगों को जो पीड़ा हुई उसके लिए सरकार में शामिल हम सभी लोग (राजग) जिम्मेदार हैं .’’

उन्होंने भाजपा नेता और उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी की आलोचना की और कहा, ‘‘ यदि सुशील मोदी हमारे नेता हैं और पार्टी में सारा श्रेय उन्हें जाता है तो उन्हें आलोचना भी उठानी चाहिए. ’’

गिरिराज ने कहा, ‘‘मैं भी उस जवाबदेही का हिस्सा हूं. किसी को गलतफहमी नहीं रहे कि यह किसी एक पार्टी की सरकार है . न भाजपा और न जदयू को रहे . ये भाजपा और जदयू गठबंधन राजग की सरकार है तथा राजग की सरकार में जनता को तकलीफ होगी तो मैं मांफी मांगूंगा ही एवं जो जिम्मेदार हैं उन्हें सजा भी दिलाऊंगा .’’ पटना में रामलीला के बंद होने पर नीतीश सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि हिन्दू धर्म को ख़त्म करने का यह प्रयास है जबकि रामलीला होने से राम का चरित्र का वर्णन होता है. उन्होंने कहा कि राम के चरित्र से समाज के हर धर्म को सीख मिलती है और समाज के सभी लोगों को इसे अपनाना चाहिए.

उन्होंने एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी को राष्ट्र विरोधी बताया.

(इनपुट भाषा)