भारत-पाक सीमा के पास अमृतसर में 5 किलो वजनी IED मिली, जिसमें 2.7 किलो RDX शामिल था

पंजाब के अमृतसर में भारत-पाकिस्तान सीमा के पास अटारी-बचीविंड रोड पर पड़े एक बैग में रखा गया एक आईईडी और कुछ भारतीय नोट शुक्रवार को मिले

Published: January 14, 2022 9:07 PM IST

By India.com Hindi News Desk | Edited by Laxmi Narayan Tiwari

IED, RDX, India- Pakistan, border, Punjab Police, Punjab, Police, Amritsar, terrorist, terrorism,
(फाइल फोटो)

चंडीगढ़: पंजाब के अमृतसर में भारत-पाकिस्तान सीमा के पास अटारी-बचीविंड रोड पर पड़े एक बैग में रखा गया एक आईईडी और कुछ भारतीय नोट शुक्रवार को मिले. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पंजाब पुलिस के विशेष कार्यबल (एसटीएफ) ने राज्य में विधानसभा चुनाव से ठीक एक महीने पहले मादक पदार्थ और विस्फोटकों के बारे में एक विशिष्ट सूचना के आधार पर एक तलाशी अभियान शुरू किया और बैग बरामद किया.

Also Read:

यह बरामदगी ऐसे समय हुई है, जब राष्ट्रीय राजधानी के गाजीपुर फूल मंडी में एक लावारिस बैग के अंदर आरडीएक्स और अमोनियम नाइट्रेट वाला एक आईईडी मिला. अमृतसर में आईईडी बरामद होने के बाद पुलिस ने इलाके की घेराबंदी कर दी है. मौके पर मौजूद एसटीएफ के सहायक महानिरीक्षक रशपाल सिंह ने फोन पर कहा, ”…5 किलोग्राम वजनी आईईडी… अटारी-बचीविंड रोड पर एक बैग में मिला. कुछ भारतीय नोट भी मिले हैं. उन्होंने कहा कि विशेषज्ञों और बम निरोधक दस्ते के सदस्यों को घटनास्थल पर बुलाया गया है और आगे की जांच जारी है.

आईएसवाईएफ समर्थित एक आतंकी मॉड्यूल का पर्दाफाश के बाद आरडीएक्स जब्त किया

इंटरनेशनल सिख यूथ फेडरेशन (आईएसवाईएफ) समर्थित एक आतंकी मॉड्यूल का पर्दाफाश किए जाने के कुछ दिन बाद पंजाब पुलिस ने बृहस्पतिवार को कहा कि उसने पठानकोट में ग्रेनेड फेंके जाने की दो हालिया घटनाओं के प्रमुख आरोपी के खुलासे के आधार पर हथियार और गोला-बारूद के अलावा ढाई किलोग्राम आरडीएक्स जब्त किया है.

एके-47 के 12 कारतूसों के साथ डिटोनेटर, डिटोनेटिंग कॉर्ड और विस्फोटक फ्यूज भी बरामद

पुलिस महानिदेशक वी के भावरा ने बृहस्पतिवार को बताया कि पुलिस ने एके-47 राइफलों के 12 कारतूसों के साथ एक डिटोनेटर, एक डिटोनेटिंग कॉर्ड और पांच विस्फोटक फ्यूज भी बरामद किए हैं. पुलिस ने कहा था कि विस्फोटक सामग्री का इस्तेमाल आईईडी बनाने में किया जाना था.

पठानकोट में ग्रेनेड हमले के आरोपी के बयान पर बरामदगी हुई

डीजीपी ने एक बयान में कहा, ”गुरदासपुर के गांव लखनपाल के आरोपी अमनदीप कुमार उर्फ ​​मंत्री के खुलासे बयान के आधार पर बरामदगी की गई, जो पठानकोट में ग्रेनेड हमले की दो हालिया घटनाओं का मुख्य आरोपी है.” कुमार सोमवार को पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए छह आईएसवाईएफ सदस्यों में शामिल था. बृहस्पतिवार को जारी बयान के मुताबिक उसने पठानकोट में दो अलग-अलग घटनाओं में ग्रेनेड फेंकने की बात कबूल की है.

पाकिस्‍तान में बैठे आईएसवाईएफ के प्रमुख लखबीर सिंह रोडे ने पहुंचाई गई थी खेप

शहीद भगत सिंह नगर की वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कंवरदीप कौर ने कहा कि कुमार के खुलासे के बाद टीम गुरदासपुर जिले में भेजी गईं और विस्फोटक सामग्री जब्त की गई. प्रमुख आरोपी के अनुसार इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आईईडी) में इनका इस्तेमाल किया जाना था. उन्होंने कहा कि यह खेप आईएसवाईएफ (रोडे) के स्वयंभू प्रमुख लखबीर सिंह रोडे द्वारा कुमार को पहुंचाई गई थी. रोडे इस समय पाकिस्तान में है और उसने अपने साथी दीनानगर के खराल गांव निवासी सुखप्रीत सिंह उर्फ सुख के हाथों यह खेप भेजी थी.

रोडे पंजाब और विदेशों में सिलसिलेवार आतंकी मॉड्यूलों को सक्रिय करता रहा

बयान के अनुसार पिछले साल जून-जुलाई से रोडे पंजाब और विदेशों में अपने नेटवर्क के माध्यम से सिलसिलेवार आतंकी मॉड्यूलों को सक्रिय करने में प्रमुखता से शामिल रहा है. पुलिस ने सोमवार को कहा था कि उसने आईएसवाईएफ के छह सदस्यों की गिरफ्तारी के साथ संगठन द्वारा समर्थित बड़े आतंकी मॉड्यूल का पर्दाफाश करके पठानकोट में सेना की छावनी के द्वार के बाहर पिछले दिनों ग्रेनेड विस्फोट से जुड़े मामले को सुलझा लिया है. समझा जाता है कि आईएसवाईएफ को पाकिस्तान की गुप्तचर एजेंसी आईएसआई का समर्थन हासिल है.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें देश की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: January 14, 2022 9:07 PM IST