Navjot Singh Sidhu, Punjab Assembly Elections, पंजाब विधानसभा चुनाव (Punjab Assembly Election 2022) के बीच कांग्रेस प्रदेश अध्‍यक्ष (Punjab Congress chief) नवजोत सिंह सिद्दू (Navjot Singh Sidhu) जब राज्‍य का मुख्‍यमंत्री बनने का सपना देख रहे है, तब उनके परिवार का एक विवाद मीडिया की सुर्खियों में छाया हुआ है. पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू की बहन सुमन तूर ने अमेरिका से आरोप लगाया कि 1986 में उनके पिता (पिता भगवंत सिंह सिद्दू ) की मृत्यु के बाद उन्होंने अपनी बूढ़ी मां को लावारिस छोड़ दिया और बाद में 1989 में दिल्ली रेलवे स्टेशन पर एक बेसहारा महिला के रूप में उनकी मृत्यु हो गई.Also Read - राजस्‍थान: कांग्रेस विधायक गणेश घोघरा ने सीएम अशोक गहलोत को भेजा इस्‍तीफा

Also Read - ज्ञानवापी मुद्दे के बीच शिवलिंग पर आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर डीयू के प्रोफेसर के खिलाफ FIR दर्ज

बहन सुमन तूर के इन आरोपों के सवालों के जवाब में मीडिया से नवजोत सिंह सिद्दू की पत्‍नी नवजोत कौर सिद्धू ने कहा, ”मैं उन्हें नहीं जानती. उनके (नवजोत सिंह सिद्धू के) पिता की पहली पत्नी से दो बेटियां थीं. मैं उन्हें नहीं जानती.’ Also Read - वैष्णो देवी के दर्शन के लिए जाने वाले श्रद्धालु हो जाएं सावधान, ऐसे हो सकता है नुकसान

पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू की ‘बहन’ सुमन तूर ने आरोप लगाया कि उनके पिता की मृत्यु के बाद नवरोज सिंह सिद्धू ने अपनी बूढ़ी मां को लावारिस छोड़ दिया था और बाद में 1989 में दिल्ली रेलवे स्टेशन पर एक बेसहारा महिला के रूप में उनकी मृत्यु हो गई. पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के लिए शर्मिंदगी बात है कि उनकी ‘बड़ी बहन’ ने उन पर यह अनैतिक और अमानवीय आरोप लगाया है. सुमन ने पारिवारिक संपत्ति हड़पने के इरादे से पिता की मृत्यु के बाद अपनी बुजुर्ग मां को छोड़ने के लिए क्रिकेटर से राजनेता बने सिद्धू को क्रूर करार दिया.  उन्होंने  मीडिया को बताया कि सिद्धू ने अपनी मां को छोड़ दिया था और 1989 में एक रेलवे स्टेशन पर उनका निधन हो गया.

सिद्धू की बहन ने दावा किया कि उनके भाई ने उन्हें और उनकी मां को 1986 में बेसहारा छोड़ने छोड़ दिया और यह सब संपत्ति हड़पने के लिए किया गया.
आरोपों का जवाब देते हुए सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर सिद्धू ने अमृतसर में मीडिया से कहा कि तूर सिद्धू की सौतेली बहन है. नवजोत कौर ने कहा, “मैं उन्हें नहीं जानती। उनके पिता की पहली पत्नी से दो बेटियां थीं. मैं उन्हें नहीं जानती.

पंजाब कांग्रेस चीफ सिद्धू के पारिवारिक विवाद का यह मामला तब आया है, जब पंजाब में चुनावी सियासी घमासान शुरू हो चुका है. पंजाब में विधानसभा चुनावों के लिए जब सिद्धू और उनके कट्टर विरोधी और मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के बीच सीएम पद के लिए एक कड़ा मुकाबला देखने को मिला रहा है,  ऐसे में यह विवाद क्र‍िकेटर से सियासी खिलाड़ी सिद्धू पर कितना असर डालता है, यह तो आने वाला चुनावनी नतीजा ही बताएगा, लेकिन यह तय है कि अब आरोप- प्रत्‍यारोप में यह मामला तूल पकड़ सकता है.