PM’s security Lapses Case: ADGP के पत्र में खुलासा, PM के दौरे से पहले पंजाब पुलिस को दी गई थी प्रदर्शन की सूचना

पीएम नरेंद्र मोदी के फिरोजपुर दौरे से पहले पंजाब के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने किसानों की आवाजाही पर नजर रखने के लिए संबंधित पुलिस अधिकारियों को आवश्यक निर्देश जारी किए थे. इस बात का जिक्र अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजीपी) द्वारा जारी किए गए एक पत्र में है

Published: January 7, 2022 12:32 AM IST

By India.com Hindi News Desk | Edited by Laxmi Narayan Tiwari

Punjab, Additional Director General of Police, ADGP, Prime Minister, PM Modi's visit , Ferozepur, Modi’s Ferozepur visit, Punjab, security lapses, PM MODI, VVIP, Punjab Police,
(फाइल फोटो)

PM Modi’s security Lapses Case: चंडीगढ़: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फिरोजपुर दौरे से पहले पंजाब के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने किसानों की आवाजाही पर नजर रखने के लिए संबंधित पुलिस अधिकारियों को आवश्यक निर्देश जारी किए थे. इस बात का जिक्र अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजीपी) द्वारा जारी किए गए एक पत्र में है. एडीजीपी (कानून एवं व्यवस्था) रैंक के अधिकारी ने पुलिस अधिकारियों से सड़क जाम की स्थिति में यातायात का मार्ग बदलने को भी कहा था.

Also Read:

पुलिस महानिरीक्षक, पुलिस आयुक्त और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सहित सभी वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को निर्देश जारी किए गए थे. प्रधानमंत्री के दौरे से एक दिन पहले चार जनवरी को जारी किए गए पत्र में कहा गया था, ”आपसे अनुरोध है कि महत्वपूर्ण बिंदुओं पर बल तैनात करके अपने क्षेत्र में आवश्यक सुरक्षा, यातायात और मार्ग की व्यवस्था करें.”

पत्र में कहा गया था, “आपको आगे किसानों की आवाजाही पर नजर रखने का निर्देश दिया जाता है और उन्हें रैली को बाधित करने के लिए जिला फिरोजपुर में जाने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए.” पत्र इस ‘विषय’ के साथ जारी किया गया था- ‘किसानों के आंदोलन के मद्देनजर पांच जनवरी-पीएम रैली दिवस पर जिलों में सुरक्षा और मार्ग व्यवस्था ‘

इसमें कहा गया था, किसी भी धरने के परिणामस्वरूप सड़कें अवरुद्ध हो सकती हैं, इसलिए कृपया आवश्यक यातायात बदलाव योजना पहले से ही बना लें. एडीजीपी (कानून-व्यवस्था) द्वारा दो जनवरी को जारी किए गए एक अन्य पत्र में कहा गया था कि पंजाब के सभी जिलों से लगभग एक लाख लोगों को जुटाया जा रहा है.

पत्र में कहा गया था,  किसान 5 जनवरी को भी धरना दे सकते हैं, कई जगह सड़क जाम हो सकती है, यातायात बदलाव योजना पहले से बना लें

इस पत्र में कहा गया था, ”आपसे अनुरोध है कि महत्वपूर्ण बिंदुओं पर बल तैनात करके यातायात की सुचारू आवाजाही सुनिश्चित करने के लिए अपने क्षेत्र में आवश्यक यातायात और मार्ग की व्यवस्था करें. खराब वाहनों की मदद से की जाने वाली नाकेबंदी से बचने के लिए रिकवरी वैन भी रखी जानी चाहिए.” पत्र में कहा गया था, ”ज्यादातर जिलों में बड़ी संख्या में धरने चल रहे हैं. किसान पांच जनवरी को भी धरना दे सकते हैं. इन धरनों से कई जगह सड़क जाम हो सकती है.कृपया आवश्यक यातायात बदलाव योजना पहले से बना लें.”

 भारतीय किसान यूनियन (क्रांतिकारी) के कार्यकर्ताओं ने सड़क जाम कर विरोध प्रदर्शन किया था

भारतीय किसान यूनियन (क्रांतिकारी) के कार्यकर्ताओं ने बुधवार को फिरोजपुर-मोगा मार्ग पर गांव पियारेना के पास सड़क जाम कर विरोध प्रदर्शन किया था. बुधवार को फिरोजपुर में प्रदर्शनकारियों द्वारा सड़क अवरुद्ध किए जाने के कारण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का काफिला एक फ्लाईओवर पर फंस गया था, जिसके बाद प्रधानमंत्री बिना किसी कार्यक्रम या रैली में शामिल हुए पंजाब से लौट गए थे.

पंजाब सरकार ने चूक की जांच के लिए एक उच्च स्तरीय समिति का गठन किया

पंजाब सरकार ने पीएम मोदी के दौरे के दौरान हुई चूक की जांच के लिए एक उच्च स्तरीय समिति का गठन किया है. गृह मंत्रालय (एमएचए) ने बुधवार को जारी एक बयान में कहा था कि पंजाब दौरे के दौरान प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक हुई थी. मंत्रालय ने सुरक्षा उल्लंघन का संज्ञान लेते हुए पंजाब सरकार से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है और इस चूक की जिम्मेदारी तय करने और सख्त कार्रवाई करने को कहा है.

प्रधानमंत्री 15-20 मिनट तक फ्लाईओवर पर फंसे रहे यह प्रधानमंत्री की सुरक्षा में एक बड़ी चूक थी

गृह मंत्रालय ने बुधवार को एक बयान में कहा, नरेंद्र मोदी आज सुबह बठिंडा पहुंचे, जहां से वे हेलीकॉप्टर से हुसैनीवाला स्थित राष्ट्रीय शहीद स्मारक जाने वाले थे. बारिश और खराब दृश्यता के कारण प्रधानमंत्री ने करीब 20 मिनट तक मौसम साफ होने का इंतजार किया. जब मौसम में सुधार नहीं हुआ तो निर्णय लिया गया कि प्रधानमंत्री सड़क मार्ग से राष्ट्रीय शहीद स्मारक जाएंगे, जिसमें दो घंटे से अधिक समय लगेगा. डीजीपी पंजाब पुलिस द्वारा आवश्यक सुरक्षा प्रबंधों की आवश्यक पुष्टि के बाद प्रधानमंत्री सड़क मार्ग से यात्रा के लिए रवाना हुए. बयान में आगे कहा गया, हुसैनीवाला स्थित राष्ट्रीय शहीद स्मारक से करीब 30 किलोमीटर की दूरी पर, जब प्रधानमंत्री का काफिला एक फ्लाईओवर पर पहुंचा तो पाया गया कि कुछ प्रदर्शनकारियों ने सड़क को अवरुद्ध कर दिया है. बयान के अनुसार, प्रधानमंत्री 15-20 मिनट तक फ्लाईओवर पर फंसे रहे यह प्रधानमंत्री की सुरक्षा में एक बड़ी चूक थी.

प्रधानमंत्री के कार्यक्रम और यात्रा की योजना के बारे में पंजाब सरकार को पहले ही जानकारी दे दी गई थी

प्रधानमंत्री के कार्यक्रम और यात्रा की योजना के बारे में पंजाब सरकार को पहले ही जानकारी दे दी गई थी. प्रक्रिया के अनुसार, उन्हें लॉजिस्टिक्स व सुरक्षा के साथ-साथ आकस्मिक योजना को तैयार रखते हुए इस संबंध में आवश्यक व्यवस्था करनी होती है. आकस्मिक योजना को ध्यान में रखते हुए, पंजाब सरकार को सड़क मार्ग से किसी भी यात्रा को सुरक्षित रखने के लिए अतिरिक्त सुरक्षा तैनात करनी चाहिए थी, जिनकी स्पष्ट रूप से तैनाती नहीं की गई थी. इस सुरक्षा चूक के बाद, बठिंडा हवाई अड्डे पर वापस लौटने का निर्णय लिया गया.

PM Modi की सुरक्षा में चूक पर एक्‍शन में गृह मंत्रालय, जांच कमेटी गठित की

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने आज गुरुवार को देर शाम को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कल 5 जनवरी 2022 को फिरोजपुर यात्रा के दौरान हुई सुरक्षा व्यवस्था में गंभीर चूक की जांच के लिए एक समिति का गठन कर दिया है. केंद्रीय गृह मंत्री ने घटना के दूसरे ही दिन गृह प्रधानमंत्री मोदी की फिरोजपुर यात्रा के दौरान हुई सुरक्षा व्यवस्था में गंभीर चूक की जांच के लिए एक समिति का गठन कर दिया है. केंद्रीय गृह मंत्रालय की तीन सदस्यीय समिति का नेतृत्व श्री सुधीर कुमार सक्सेना, सचिव (सुरक्षा), कैबिनेट सचिवालय करेंगे और इसमें बलबीर सिंह, संयुक्त निदेशक, आईबी और एस सुरेश, आईजी, एसपीजी शामिल होंगे. समिति को जल्द से जल्द रिपोर्ट सौंपने की सलाह दी जाती है. बता दें कि आज पीएम मोदी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात कर अपने पंजाब दौरे के दौरान उनकी सुरक्षा में हुई चूक के मामले की जानकारी दी थी और इसके कुछ ही देर बाद केंद्र सरकार ने संकेत दिया कि केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा संबंधित जानकारियां इकट्ठा किए जाने के बाद वह कोई बड़ा व कड़ा फैसला भी ले सकती है.

(इनपुट-भाषा)

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें देश की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: January 7, 2022 12:32 AM IST