चंडीगढ़ : पंजाब (Punjab) में जैसे-जैसे चुनाव नजदीक (Punjab Assembly Election) आ रहे हैं, वैसे-वैसे यहां का सियासी पारा भी चढ़ रहा है. एक तरफ विपक्षी पार्टियां राज्य में सत्तारूढ़ कांग्रेस सरकार (Congress Govt) और उसकी नीतियों पर उंगली उठा रहे हैं, उससे पांच सालों का रिकॉर्ड मांग रही हैं, वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस भी हमलावर मुद्रा में नजर आ रही है. कांग्रेस के सामने समस्या के रूप में उसी के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Capt Amarinder Singh) भी हैं, जो अलग पार्टी बनाकर सरकार को और अपनी ही पूर्व पार्टी को चुनौती दे रहे हैं. इस बीच पंजाब के मौजूदा मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) पर बड़ी जिम्मेदारी है. उन्हें एक तरफ प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) से समर्थन नहीं मिल रहा और दूसरी ओर बाहर से भी लगातार हमले हो रहे हैं. मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने पंजाब में प्रमुख विपक्षी दल आम आदमी पार्टी (AAP) को ‘काले अंग्रेज’ (Black Britishers) का दल बताया है.Also Read - चरण सिंह चन्‍नी बोले, चमकौर साहिब की जनता को सीएम मिला है, पार्टी जिसे चुने वह मुख्‍यमंत्री का चेहरा होगा

दरअसल मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) ने बुधवार को आम आदमी पार्टी (AAP) को काले अंग्रेजों (Kale Angrej) का दल करार दिया और कहा कि वे 2022 के विधानसभा चुनाव (Assembly Election 2022) को जीतने की कोशिश कर रहे हैं. इस पर दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) कहां चुप बैठने वाले थे. केजरीवाल ने कहा, उनका रंग भले ही ‘काला हो’ लेकिन उनकी ‘नीयत साफ’ है. बता दें कि पंजाब में आप और कांग्रेस के बीच जबानी जंग जोरों पर है. पंजाब के मोगा जिले के बधनी कलां में एक सभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री चन्नी ने आम आदमी पर यह ‘काले अंग्रेज’ वाली टिप्पणी की. Also Read - Uttarakhand Elections 2022: अमित शाह ने रुद्र प्रयाग में किया प्रचार, काम के आधार पर मांगे वोट

चन्नी ने कहा कि केजरीवाल कहते हैं कि पंजाब में अगली सरकार आप बनाएगी. उन्होंने कहा, “क्या पंजाब में लोग नहीं रहते? क्या पंजाब में युवा नहीं हैं? क्या पंजाब में पंजाबी नहीं हैं? क्या ‘काले अंग्रेज’ यहां (राज्य) आएंगे और राज करेंगे? चन्नी ने कहा कि ‘(गोरे) चिट्टे अंग्रेज’ (ब्रिटिश) को पहले देश से बाहर भगा दिया गया था और अब ये “काले अंग्रेज” पंजाब पर कब्जा करने की कोशिश कर रहे हैं. Also Read - BJP देश की सबसे अमीर पार्टी, बसपा दूसरे और कांग्रेस तीसरे नंबर पर, जानें किसके पास कितनी संपत्ति

पत्रकारों से बात करते हुए चन्नी ने कहा, “हम कह रहे हैं कि पंजाब पंजाबियों का है, आप यहां व्यवधान पैदा न करें. ये बाहरी लोग ‘काले अंग्रेज’ (राज्य पर) शासन करना चाहते हैं.” मोगा में जनसभा को संबोधित करते हुए, मुख्यमंत्री चन्नी ने कहा कि पंजाब पर केवल उसके लोगों का शासन होगा और “केजरीवाल जैसे” लोगों को यहां के लोगों की समस्याओं और जरूरतों के बारे में बिल्कुल जानकारी नहीं है.

इस पर प्रतिक्रिया देते हुए केजरीवाल ने ट्वीट किया, “जबसे मैंने कहा कि (आप की सरकार बनने के बाद) पंजाब की हर महिला को 1000 रुपये महीना देंगे, चन्नी साहब मुझे गालियां दे रहे हैं. (वह पहले) बोले कि केजरीवाल के कपड़े खराब हैं, आज बोले केजरीवाल काला है.” दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा, “चन्नी साहब, मेरा रंग काला है. पर पंजाब की मेरी मां-बहनों को ये काला बेटा/भाई पसंद है. उनको पता है कि मेरी नीयत साफ है.”

आप नेता राघव चड्ढा ने चन्नी की ‘काले अंग्रेज’ टिप्पणी पर एक बयान में कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री ने एक जिम्मेदार पद पर बैठ होने के बावजूद “लांछन की सारी हदें पार कर दी हैं” और यह “शर्मनाक” है.

(इनपुट – पीटीआई)