Punjab Elections 2022: पंजाब में कांग्रेस और SAD को तगड़ा झटका, BJP में शामिल हुए चार दिग्गज नेता

Punjab Assembly Elections 2022: इन नेताओं को पार्टी में शामिल कर भाजपा ने राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी कांग्रेस के साथ-साथ अकाली दल को भी बड़ा राजनीतिक झटका दे दिया है.

Published: January 11, 2022 2:45 PM IST

By India.com Hindi News Desk | Edited by Ikramuddin Saifi

BJP Punjab

Punjab Assembly Elections 2022: पंजाब में इस साल विधानसभा चुनाव होने हैं और राजनीतिक पार्टियां सत्ता में आने की दावेदारी कर रही हैं. हालांकि इसी बीच प्रदेश की सत्ता पर काबिज कांग्रेस (Congress) और अकाली दल (SAD) को तगड़ा झटका लगा है. आज मंगलवार को कांग्रेस और अकाली दल के चार बड़े नेताओं ने अपने समर्थकों के साथ भाजपा का दामन थाम लिया. कांग्रेस के पूर्व विधायक अरविंद खन्ना (Former MLA Arvind Khanna) शिरोमणि अकाली दल के महासचिव गुरदीप सिंह गोशा (SAD Leader Gurdeep Singh Gosha), पटियाला शहर के बड़े नेता कंवर सिंह तोहड़ा (Kanwar Singh Tohra) और अमृतसर से धर्मवीर सरीन (Dharamveer Sarin) अपने समर्थकों के साथ आज भाजपा के राष्ट्रीय मुख्यालय में पार्टी में शामिल हो गए.

Also Read:

कांग्रेस और अकाली को झटका
पार्टी में शामिल कर भाजपा ने राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी कांग्रेस के साथ-साथ अकाली दल को भी बड़ा राजनीतिक झटका दे दिया है. पंजाब के भाजपा चुनाव प्रभारी एवं केंद्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत, केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी, पंजाब भाजपा के प्रभारी एवं राष्ट्रीय महासचिव दुष्यंत गौतम की मौजदूगी में ये नेता मंगलवार को भाजपा में शामिल हो गए. केंद्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि दो बार लगातार विधायक रह चुके अरविंद खन्ना ने राजनीति से विराम ले लिया था, लेकिन एक बार फिर से ये भाजपा में शामिल होकर राजनीति में सक्रिय होने जा रहे हैं और उनके आने से राज्य में पार्टी को मजबूती मिलेगी.

उन्होने पंजाब के प्रभावशाली राजनीतिक परिवार से जुड़े युवा नेता कंवर सिंह तोहड़ा और उनकी पत्नी के साथ-साथ, अकाली नेता गुरदीप सिंह गोशा और धर्मवीर सरीन का पार्टी में स्वागत करते हुए दावा किया कि पंजाब में भाजपा का कुनबा लगातार बढ़ रहा है और इनके पार्टी में शामिल होने के बाद राज्य के लोगों और युवाओं में पार्टी की पकड़ और मजबूत होगी.

पीएम मोदी की सुरक्षा में चूक पर साधा निशाना
पांच जनवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में हुई चूक के मसले पर एक बार फिर से राज्य की कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए शेखावत ने कहा कि उस दिन पंजाब के इतिहास में सबसे बड़ी रैली होने वाली थी, लेकिन कांग्रेस की वजह से देश के लोकतांत्रिक इतिहास में एक काला अध्याय दर्ज हो गया. उन्होने दावा किया कि उस घटना की वजह से भाजपा कार्यकर्ताओं का उत्साह और संकल्प कई गुणा बढ़ गया है. उन्होने कहा कि पार्टी कार्यकर्ता और अधिक दमखम के साथ चुनावी मैदान में उतरने को तैयार है. (एजेंसी इनपुट्स)

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें देश की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: January 11, 2022 2:45 PM IST