पंजाब (Punjab) में आज सोमवार को अमृतसर में पूर्व आईपीएस अफसर कुंवर विजय प्रताप (IG Kunwar Vijay Pratap) ने आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) में शामिल हो गए. आईजी रहे कुंवर विजय प्रताप आप में आम आदमी पार्टी के संयोजक व दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री व अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) की मौजूदगी में शामिल हुए. इस मौके पर केजवरीवाल ने कहा कि पंजाबी ही राज्‍य का मुख्‍यमंत्री का होगा.Also Read - Delhi Lockdown Update:...तो दिल्ली में फिर लग जाएगा लॉकडाउन, स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने दिये संकेत

अमृतसर में आयोजित कार्यकम में दिल्‍ली मुख्यमंत्री और AAP नेता अरविंद केजरीवाल की मौजूदगी में पूर्व आईजी कुंवर विजय प्रताप आम आदमी पार्टी में शामिल हुए. बता दें पंजाब में आईपीएस कुंवरविजय प्रताप सिंह ने बरगाड़ी कांड की जांच के दौरान इस्‍तीफा दे दिया था. वह इस कांड की जांच कर रही एसआईटी के प्रमुख थे. Also Read - Punjab News: प्रशांत किशोर ने पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के मुख्य सलाहकार के पद से दिया इस्तीफा

Also Read - Tokyo Olympics: Men's Hockey Team की जीत, खिलाड़ियों के घरों में जश्‍न, सामने आए ये वीड‍ियो

दिल्ली के मुख्यमंत्री तथा आप के राष्ट्रीय समन्वयक अरविंद केजरीवाल अमृतसर गए जहां उनकी मौजूदगी में पंजाब के पूर्व महानिरीक्षक पार्टी में शामिल हुए. पार्टी की राज्य इकाई के अध्यक्ष भगवंत मान ने केजरीवाल, राघव चड्ढा समेत वरिष्ठ नेताओं की उपस्थिति में कहा, ”वह अब आप परिवार का हिस्सा हैं.”

केजरीवाल ने कहा,  पंजाब के लिए आम आदमी पार्टी के सीएम उम्मीदवार सिख समुदाय से होगा.  यह कोई ऐसा व्यक्ति होगा जिस पर पूरा पंजाब गर्व महसूस करता है.

इस मौके पर आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने कहा, मैं आज पंजाब के लोगों को ये विश्वास दिलाना चाहता हूं कि AAP की सरकार बनेगी तो हम बरगाड़ी कांड के दोषियों को सजा दिलाएंगे और पंजाब के लोगों को न्याय दिलवाएंगे.

आप नेता केजरीवाल ने कहा, आज पंजाब बहुत बुरे दौर से गुजर रहा है. जब पूरा पंजाब कोरोना से परेशान था, तब यहां के सत्ताधारी पार्टी के नेता कुर्सी के लिए लड़ रहे थे. पंजाब में एक और पार्टी है, जिनके ऊपर भ्रष्टाचार के आरोप लगे हुए हैं. तो पंजाब में लोगों की समस्याओं का कौन समाधान निकालेगा.

अमृतसर में आप नेता अरविंद केजरीवाल ने कहा, मैं पंजाब के लोगों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि आप सुनिश्चित करेगी कि बरगारी बेअदबी मामले में दोषियों को दंडित किया जाएगा और न्याय दिया जाएगा.

पूर्व आईपीएस अधिकारी कुंवर विजय प्रताप सिंह पंजाब में 2015 में कोटकपुरा पुलिस गोलीबारी कांड की जांच करने वाले विशेष जांच दल का हिस्सा थे.
फरीदकोट जिले में गुरु ग्रंथ साहिब की कथित बेअदबी के बाद 2015 में कोटकपुरा में हुई कथित गोलीबारी की घटना के बारे में पंजाब पुलिस की एसआईटी की रिपोर्ट को पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय ने खारिज कर दिया था जिसके बाद कुंवर विजय प्रताप सिंह ने अप्रैल में समय पूर्व सेवानिवृत्ति ले ली थी. वैसे वह 2029 में सेवानिवृत्त होने वाले थे. सिंह कोटकपुरा की घटना और बेहबल कलां पुलिस गोलीबारी कांड की जांच करने वाले विशेष जांच दल का हिस्सा थे. अदालत ने राज्य सरकार को मामले की जांच के लिए एक नए एसआईटी के गठन का निर्देश दिया था और कहा था कि उस दल में कुंवर विजय प्रताप सिंह को शामिल नहीं किया जाए.