Punjab New CM LIVE Updates: कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस्तीफे के बाद पंजाब के नए मुख्यमंत्री का चेहरा अब साफ हो गया है.पंजाब के विधायकों के साथ चर्चा के बाद, AICC ने सीएम पद के लिए सुखजिंदर रंधावा के नाम का प्रस्ताव रखा, दिल्ली में अंबिका सोनी के साथ राहुल गांधी के आवास पर बैठक चल रही है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक विधायकों ने सुखजिंदर सिंह रंधावा के नाम पर मुहर लगा दी है. इसके साथ ही अरुणा चौधरी और भारत भूषण ये दो उपमुख्यमंत्री बनेंगे, इसका भी फैसला हो गया है.Also Read - सिद्धू का नया पैंतरा-पहले इस्तीफा, फिर लिया वापस, अब सोनिया गांधी को लिखा खत, मिलना चाहता हूं

सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक पंजाब में सीएम के साथ दो डिप्टी सीएम भी शपथ लेंगे. इनमें से एक हिंदू और एक दलित विधायक होगा. Also Read - नवजोत सिंह सिद्धू पंजाब में बने रहेंगे कांग्रेस के 'कैप्टन', राहुल गांधी से मुलाकात के बाद वापस लिया इस्तीफा

कांग्रेस नेता राहुल गांधी पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद अपने आवास लौट गए हैं. Also Read - हाईकमान से मिलने के बाद नरम पड़े सिद्धू के तेवर! हरीश रावत बोले- बने रहेंगे पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष; आज होगी घोषणा

सुखजिंदर सिंह रंधावा के नए सीएम होने की संभावना है.

पंजाब कांग्रेस नेता सुखजिंदर सिंह रंधावा चंडीगढ़ में अपने आवास से निकले.

कैप्टन अमरिंदर सिंह के कल इस्तीफा देने के बाद उन्हें कथित तौर पर पंजाब राज्य के लिए सीएम चेहरा नामित किया गया है.

कांग्रेस नेता काका रणदीप सिंह ने कहा कि मैं उनसे (सुखजिंदर सिंह रंधावा) मिलने आया हूं, आधिकारिक जानकारी (सीएम के नाम पर) दिल्ली से आने वाले लोगों द्वारा प्रेस के माध्यम से घोषित की जाएगी.

कैप्टन अमरिंदर सिंह के सीएम पद से इस्तीफे के बाद पंजाब में राजनीतिक स्थिति पर कांग्रेस नेता परगट सिंह ने कहा कि पंजाब का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा, इसका आज फैसला होगा… मैं (कांग्रेस का) आलाकमान नहीं हूं तो मैं कुछ भी कैसे तय कर सकता हूं? अंततः, यह आलाकमान का विशेषाधिकार है.

कांग्रेस के  विधायक प्रीतम कोटभाई ने बताया है कि सभी विधायकों ने कांग्रेस आलाकमान के सामने सुखजिंदर रंधावा को सीएम के लिए नामित किया है, वही सीएम बनेंगे.

कांग्रेस नेता सुखजिंदर सिंह रंधवा ने आज पंजाब के सीएम के रूप में शपथ लेने पर कहा कि-मेरा नहीं, पता नहीं कौन है लेकिन यह पक्का होगा.

पंजाब का नया सीएम कौन होगा—इसे लेकर कल से अटकलें चल रही थीं. पंजाब कांग्रेस ने पहले ही कह दिया था कि सीएम के नाम का फैसला हाईकमान को करना है और सोनिया गांधी आज सीएम के नए नाम की घोषणा कर देंगी. लेकिन इस बीच अंबिका सोनी जिनका नाम सीएम के उम्मीदवार के रूप में लिया जा रहा था, उन्होंने सीएम का पद का प्रस्ताव ठुकरा दिया.

सिद्धू के सलाहकार ने अमरिंदर पर लगाए आरोप, दी धमकी

पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकार मोहम्मद मुस्तफा ने अमरिंदर सिंह को धमकी दी है और कहा है कि नवजोत सिद्धू देशद्रोही नहीं हैं. अगर अब के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह सिद्धू को देशद्रोही कहेंगे तो मैं पूरी किताब खोल दूंगा. कैप्टन के निशाने पर सिद्धू नहीं बल्कि गांधी परिवार है. मैं कैप्टन को गांधी परिवार को निशाना नहीं बनने दूंगा.

उन्होंने कहा कि अमरिंदर सिंह पिछले 5 साल से पंजाब को बदनाम कर रहे हैं. इस पार्टी के लोग उन्हें पिछले साढ़े चार साल से बर्दाश्त करते आ रहे हैं. मैं पार्टी का नेता होता तो कैप्टन को 30 दिन में पार्टी से निकाल देता.

अंबिका सोनी ने कहा-सीएम चेहरा कोई सिख हो

अंबिका सोनी ने कहा कि मैंने (पंजाब का अगला मुख्यमंत्री बनने के लिए) प्रस्ताव को ठुकरा दिया है. चंडीगढ़ में पार्टी की कवायद महासचिव के साथ चल रही है और पर्यवेक्षक सभी विधायकों से राय ले रहे हैं. मेरा मानना ​​है कि पंजाब के मुख्यमंत्री का चेहरा किसी सिख का होना चाहिए. ऐसा कहने के बाद सोनी राहुल गांधी से मिलने गई हैं.

सिद्धू ने चला है दांव-मुझे बना दीजिए सीएम

वहीं, ये भी बातें सामने आ रही हैं कि पंजाब में मुख्यमंत्री की कुर्सी अब जाट और हिंदू चेहरे के बीच में उलझ गई है. ऐसे में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष बने नवजोत सिंह सिद्धू ने भी मुख्यमंत्री पद के लिए अपनी दावेदारी ठोक दी है और इसके बाद सिद्धू के खेमे में खींचतान शुरू हो गई है. सूत्र बताते हैं कि सिद्धू ने यह दावेदारी न सिर्फ प्रदेश प्रभारी हरीश रावत के सामने की बल्कि उन्होंने पार्टी हाईकमान को भी अपनी इच्छा बता दी है.

रंधावा-बाजवा भी दौर में

वहीं, कैबिनेट मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा और तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा भी मुख्यमंत्री की दौड़ में चल रहे हैं. दोनों ही मंत्री खुद को मुख्यमंत्री बनाने के लिए पार्टी पर दबाव बना रहे हैं. सुखजिंदर रंधावा और तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा पहले जाखड़ के करीबी थी लेकिन जैसे ही जाखड़ का नाम मुख्यमंत्री के रूप में आया दोनों ही मंत्रियों ने उनकी मुखालफत शुरू कर दी है।

ये भी कहा जा रहा है कि पार्टी हाईकमान सुनील जाखड़ को पंजाब का पहला हिंदू मुख्यमंत्री बनाना चाहती थी लेकिन सुखजिंदर सिंह रंधावा ने न सिर्फ खुद मुख्यमंत्री बनने की दावेदारी ठोकी बल्कि उन्होंने सुनील जाखड़ का विरोध भी कर दिया. जिसके बाद से ही मामला लगातार उलझता जा रहा है.