Punjabi wrights have returned their awards Sahitya Akademi Award to show support for Farmers protest: केंद्रीय कृषि कानूनों के विरोध में आंदोलन कर रहे किसानों के समर्थन में साहित्‍य जगत की हस्तियों की ओर से भी अवॉर्ड लौटाने की शुरुआत हो चुकी है. भारतीय सहित्‍य अकादमी पुरस्‍कार (Bhartiya Sahitya Akademi Award) में पंजाबी सहित्‍यकारों ने आंदोलनतरत किसानों के समर्थन में अवॉर्ड करने की घोषणा की है. Also Read - Kisan Andolan: हरियाणा के इन 3 जिलों में कल शाम 5 बजे तक इंटरनेट और SMS सेवाएं रहेंगी बाधित 

बता दें कि कल पंजाब के पूर्व मुख्‍य मंत्री सुरजीत सिंह बादल और एक अकाली नेता ने पद्म सम्‍मान वापस कर दिया था. Also Read - Kisan Andolan: ट्रैक्टर रैली में हुई हिंसा के बाद किसानों ने बजट के दिन संसद मार्च की योजना टाली

सेंट्रल पंजाबी राइटर्स एसोसिएशन (Central Punjabi Writers’ Association ) के मुताबिक, पंजाबी में भारतीय साहित्‍य अकादमी अवॉर्ड विजेताओं में शिरमौ शिरे डॉ. मोहनजीत (Sirmour Shire Dr Mohanjit), प्रमुख चिंतक डॉ. जसविंदर सिंह (Dr. Jaswinder Singh) और पंजाबी नाटककार और पंजाबी ट्रिब्‍यूजन के एडिटर स्‍वराजबीर ने अपने अवॉर्ड किसानों के प्रति समर्थन दिखाते हुए वापस कर दिए हैं.

बता दें कि पिछले 9 दिन से पंजाब, हरियाणा, यूपी के किसान देश की राजधानी दिल्‍ली में केंद्रीय कृषि बिलों को वापस करने की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे हैं.