PM Modi`s Security Lapse: केंद्र की जांच कमेटी फिरोजपुर पहुंची, फ्लाईओवर पर 45 मिनट बिताए, पंजाब सरकार ने सौंपी रिपोर्ट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पंजाब दौरे पर हुई सुरक्षा में गंभीर चूक की जांच कर रहा केंद्र का एक दल शुक्रवार को फिरोजपुर पहुंचा, जबकि राज्य की ओर से केंद्र को सौंपी गई एक रिपोर्ट में कहा गया है कि घटना के सिलसिले में प्राथमिकी दर्ज की गई है

Published: January 7, 2022 5:36 PM IST

By India.com Hindi News Desk | Edited by Laxmi Narayan Tiwari

Union home ministry, Ferozepur, Punjab government, Punjab, Security Breach, PM Modi’s Punjab visit, Punjab Police, Narendra Modi, BJP, CONGRESS, Politics, Punjab Assembly Election 2022, Punjab Assembly Elections 2022, Punjab Chunav ,Assembly Elections 2022, MHA,

चंडीगढ़/फिरोजपुर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पंजाब दौरे पर हुई सुरक्षा में गंभीर चूक को लेकर मचे सियासी घमासान के बीच  जांच कर रहा केंद्र का एक दल शुक्रवार को फिरोजपुर पहुंचा, जबकि राज्य की ओर से केंद्र को सौंपी गई एक रिपोर्ट में कहा गया है कि घटना के सिलसिले में प्राथमिकी दर्ज की गई है. सूत्रों ने बताया कि केंद्र की तीन सदस्यीय समिति प्रधानमंत्री के 5 जनवरी के दौरे के घटनाक्रम के बारे में पूरी जानकारी हासिल कर रही है. यह दल पहले फिरोजपुर के पास प्यारेयाना फ्लाईओवर पहुंचा और पंजाब पुलिस और प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बातचीत की.  जांच दल ने मामले में पूछताछ और जांच के लिए सीमा सुरक्षा बल के क्षेत्रीय मुख्यालय जाने से पहले फ्लाईओवर पर करीब 45 मिनट बिताए.

Also Read:

समिति का नेतृत्व कैबिनेट सचिवालय के सचिव (सुरक्षा) सुधीर कुमार सक्सेना कर रहे हैं और इसमें खुफिया ब्यूरो के संयुक्त निदेशक बलबीर सिंह और विशेष सुरक्षा समूह के आईजी एस सुरेश शामिल हैं. केंद्र ने समिति को जल्द से जल्द रिपोर्ट सौंपने को कहा है. सूत्रों ने बताया कि दल ने सुरक्षा में चूक की जांच शुरू कर दी है और उन खामियों पर गौर किया, जिसके कारण प्रधानमंत्री का काफिला बुधवार को करीब 15-20 मिनट तक फ्लाईओवर पर फंसा रहा था.

बता दें कि पंजाब में बुधवार को प्रदर्शनकारियों द्वारा नाकेबंदी करने के कारण प्रधानमंत्री का काफिला फिरोजपुर में फ्लाईओवर पर कुछ देर तक फंसा रहा था. इसके बाद वह एक रैली सहित किसी भी कार्यक्रम में शामिल हुए बिना पंजाब से दिल्ली लौट गए थे.

केंद्रीय गृह मंत्रालय  ने पीएम मोदी के पंजाब दौरे के दौरान सुरक्षा व्यवस्था में गंभीर चूक की जांच करने के लिए बृहस्पतिवार को तीन सदस्यीय समिति गठित की थी. दल ने मामले में पूछताछ और जांच के लिए सीमा सुरक्षा बल के क्षेत्रीय मुख्यालय जाने से पहले फ्लाईओवर पर करीब 45 मिनट बिताए. फिरोजपुर में बीएसएफ मुख्यालय पर केंद्रीय दल ने वरिष्ठ सिविल और पुलिस अधिकारियों से बात की, जो प्रधानमंत्री के काफिले को सुचारू रूप से गुजरने देने और उसकी पुख्ता सुरक्षा के लिए प्रत्यक्ष तौर पर जिम्मेदार थे.

सूत्रों ने बताया कि केंद्रीय दल ने फिरोजपुर में प्रधानमंत्री के दौरे के दौरान उनकी सुरक्षा के लिए तैनात अधिकारियों समेत कई वरिष्ठ पुलिस और सिविल अधिकारियों को सम्मन भेजकर शुक्रवार को उनके समक्ष पेश होने के लिए कहा था. इस बीच, पंजाब के मुख्य सचिव अनिरुद्ध तिवारी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पंजाब दौरे के दौरान उनकी सुरक्षा को लेकर हुई चूक की घटना के संबंध में केंद्र सरकार को एक रिपोर्ट सौंपी है. इस रिपोर्ट में बताया गया है कि घटना के सिलसिले में प्राथमिकी दर्ज की गई है और राज्य सरकार ने कथित खामियों की जांच के लिए दो सदस्यीय समिति का गठन किया है. आधिकारिक सूत्रों ने शुक्रवार को बताया कि तिवारी ने बुधवार को प्रधानमंत्री के दौरे पर हुई घटनाओं को लेकर सिलसिलेवार जानकारी साझा की है.

पंजाब सरकार ने सुरक्षा में चूक की जांच के लिए गुरुवार को दो सदस्यीय समिति का गठन किया था. समिति तीन दिन में अपनी रिपोर्ट सौंपेगी. पंजाब पुलिस ने भी मोदी के काफिले को बुधवार को अवरुद्ध करने वाले अज्ञात प्रदर्शनकारियों के खिलाफ एक प्राथमिकी दर्ज की है. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने भी राज्य सरकार को तत्काल रिपोर्ट दाखिल करने का निर्देश देते हुए कहा था कि उसने आवश्यक तैनाती सुनिश्चित नहीं की थी. गृह मंत्री अमित शाह ने कहा था कि प्रधानमंत्री के दौरे पर सुरक्षा प्रक्रिया में इस तरह की लापरवाही पूरी तरह से अस्वीकार्य है और जवाबदेही तय की जाएगी.

इस घटना से एक बड़ा राजनीतिक विवाद खड़ा हो गया है. भाजपा ने आरोप लगाया है कि पंजाब में सत्तारूढ़ कांग्रेस ने प्रधानमंत्री को शारीरिक रूप से नुकसान पहुंचाने की कोशिश की, जबकि अन्य दलों ने भी कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर राज्य सरकार पर हमला किया.  (इनपुट : भाषा)

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें देश की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: January 7, 2022 5:36 PM IST