हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में रविवार को हुए भूस्खलन में सीकर के एक परिवार के तीन लोगों सहित राजस्थान के चार लोग मारे गए. दूसरी मृतक जयपुर की 34 वर्षीय दीपा शर्मा थी, जो अपनी आकस्मिक मृत्यु से कुछ घंटे पहले अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर कुछ खूबसूरत तस्वीरें पोस्ट कर रही थी.Also Read - सचिन पायलट को लेकर नहीं बल्कि इस वजह से नाराज थे विधायक! सीएम गहलोत ने बताई असली वजह

अपने ट्विटर पेज पर अपने परिचय में दीपा ने कहा है : मैं आईएएस/आईपीएस, आईआईएम, आइवी लीग स्कूल पास आउट, कोई सेलिब्रिटी या कोई राजनेता नहीं हूं, लेकिन मुझे विश्वास है, कुछ वर्षों में लोग मेरा नाम अच्छी तरह से जानेंगे. उनके फॉलोअर्स यह सोचकर हैरान हैं कि कुछ घंटे पहले उनके साथ बातचीत करने वाली महिला अब नहीं रही. Also Read - 'मेरी आत्मा कहती है कि मैं नियमों का पालन करूं', ये कहते हुए PM मोदी ने रात में नहीं दी स्पीच, बोले- फिर आऊंगा

Also Read - Jaipur Metro Update: त्योहारी सीजन में मेट्रो के फेरे और टाइमिंग को लेकर आया यह बड़ा अपडेट

अन्य मृतकों की पहचान सीकर के बजाज रोड (मेश्वरी धर्मशाला के पास), उनके बेटे अनुराग बियाणी (35) और बेटी ऋचा बियाणी (25) की रहने वाली 55 वर्षीय माया देवी बियाणी के रूप में हुई है. अनुराग मुंबई में कंपनी सेक्रेटरी के पद पर कार्यरत था, जहां पूरा परिवार रहता था. हालांकि, सीकर में उनका एक घर है, जहां उनके चाचा रहते हैं.

एक महीने पहले अनुराग ऋचा, मां, पिता नंदकिशोर और बड़ी बहन को लेकर राजस्थान आया था. दो दिन पहले वह अपनी छोटी बहन और मां के साथ ग्रुप टूर पर हिमाचल गया था. उनके पिता सीकर में रह गए थे, जबकि बड़ी बहन मुंबई लौट आई थी.

हिमाचल में भूस्खलन में नौ पर्यटकों की मौत
हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में बस्तेरी के निकट रविवार को पर्यटकों को लेकर जा रहे एक वाहन पर भूस्खलन के बाद भारी चट्टान गिरने से उसमें सवार नौ लोगों की मौत हो गई. सांगला-छितकुल मार्ग पर बस्तेरी के निकट हाल में हुई भारी बारिश की वजह से अपराह्न एक बजकर 25 मिनट पर भूस्खलन की कई घटनाएं हुईं और इसकी वजह से एक पुल ढह गया और कुछ गाड़ियों को भी नुकसान पहुंचा है.बस्तेरी में पुल ढहने का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर काफी प्रसारित हो रहा है. वीडियो में चट्टानों को नीचे की तरफ गिरते देखा जा सकता है, जिससे पुल ढह गया. पुलिस ने बताया कि वाहन पर भारी चट्टानों के गिरने की वजह से उसमें सवार 11 लोगों में से नौ की मौत हो गई और दो घायल हो गए. यात्री छितकुल से सांगला जा रहे थे. उन्होंने कहा कि किन्नौर जिले में भूस्खलन की एक अन्य घटना में एक पैदल यात्री घायल हो गया.

मरने वाले सभी लोग देश के विभिन्न हिस्सों से आए थे
पुलिस ने कहा कि हादसे में मरने वाले सभी लोग देश के विभिन्न हिस्सों से आए पर्यटक थे. मृतकों की पहचान राजस्थान के माया देवी बियानी (55) उनके बेटे अनुराग बियानी (31) और बेटी रिचा बियानी (25), महाराष्ट्र की प्रतीक्षा सुनील पाटिल (27), जयपुर की दीपा शर्मा (34), छत्तीसगढ़ के अमोघ बापट (27), सतीश कटाकबर (34), पश्चिम बंगाल के चालक उमराब सिंह (42) और कुमार उल्हास वेदपाठक के तौर पर हुई है.