जयपुर: पुलिस चौकी में शिकायत लेकर पहुंची एक जवान लड़की को देखकर पुलिस के एएसआई की नीयत खराब हो गई और उसने युवती को मदद के बहाने उसे अपने वाहन में यह कहकर बिठा लिया कि वह उसे वापस उसके घर छोड़ देगा. लेकिन वह लड़की को एक औद्योगिक क्षेत्र में ले गया और वहां उसके साथ छेड़छाड़ की. लेकिन इस बदनीयत एएएआई को अपनी हरकत के लिए अब जेल जाना पड़ा है. Also Read - Rajasthan Coronavirus Update: संक्रमण के 76 नए मामले, कुल संक्रमितों की संख्या 7,376 हुई, देखें कहां कितने केस

खबर के मुता‍बिक चौकी प्रभारी एएसआई सुरेंद्र सिंह ने युवती को उसके घर छोड़ने के बहाने अपने वाहन में बैठा लिया. वह उसे जापानी औद्योगिक क्षेत्र में ले गया और उसके साथ छेड़छाड़ की. राजस्थान के अलवर जिले में युवती से छेड़छाड़ के आरोप में राजस्थान पुलिस के सहायक-उपनिरीक्षक को सुरेंद्र सिंह गिरफ्तार किया गया है. Also Read - कोरोना संकट के बीच एक और आफत, टिड्डियों ने फैलाया आतंक, अर्थव्यवस्था पर पड़ेगी मार

मिली खबर के मुताबिक, 23 साल की युवती नीमराणा में एक कंपनी में काम करती है. वह नीमराणा पुलिस थाने में एक शिकायत दर्ज कराने गई थी जहां से उसे संबद्ध पुलिस चौकी में भेज दिया गया. आरोप है कि शिकायत दर्ज करने के बाद चौकी प्रभारी एएसआई सुरेंद्र सिंह ने युवती को उसके घर छोड़ने के बहाने अपने वाहन में बैठा लिया। वह उसे जापानी औद्योगिक क्षेत्र में ले गया और उसके साथ छेड़छाड़ की. Also Read - राजस्‍थान के जयपुर से लेकर एमपी के छतरपुर तक टिड्डी दलों का आतंक, देखें Videos

भिवाड़ी के पुलिस अधीक्षक अमनदीप सिंह कपूर के मुताबिक, ”युवती ने 17 मई को एएसआई के खिलाफ छेड़छाड़ का मामला दर्ज करवाया. उनके बयान लिए गए और मंगलवार को एएसआई को गिरफ्तार कर लिया गया.”

नीमराणा के थाना प्रभारी संजय शर्मा के अनुसार युवती ने लॉकडाउन में राशन दिलाने में मदद मांगी थी, इसकी व्यवस्था कर दी गई थी, लेकिन बाद में उसने किराए के लिए पैसे नहीं होने और मकान मालिक द्वारा दबाव बनाए जाने की शिकायत की.