नई दिल्‍ली: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि “हम सब साथ मिलकर कोरोना की लड़ाई लड़ रहे हैं पर BJP ने मानवता की सारी हदें पार कर दी हैं. एक तरफ हम जीवन और आजीविका बचाने में लगे हैं और दूसरी तरफ ये सरकार गिराने में लगे हैं. ये लोग सरकार कैसे गिरे, कैसे खरीद फरोख़्त करें, इस काम में लगे हुए हैं”. Also Read - बीएस येदियुरप्पा की बेटी भी कोविड-19 की जांच में संक्रमित, बेटे को किया गया क्वारंटीन

गहलोत ने कहा, चाहे वह सतीश पूनिया हो या  राठौर, वे अपने केंद्रीय नेतृत्व के इशारे पर हमारे सरकार को गिराने के लिए खेल खेल रहे हैं. वे 10 करोड़ रुपए अग्रिम में दे रहे हैं और 15 करोड़ रुपए सरकार के गिरने के बाद. ये इस तरह के वादे कर रहे हैं. Also Read - सुशांत सिंह राजपूत मामले पर कांग्रेस ने दी नसीहत, तो भाजपा ने किया घेराव, दागे ये 7 सवाल

राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत से जब पूछा गया कि क्या सचिन पायलट सीएम बनना चाहते हैं तो उन्‍होंने कहा,” मुख्यमंत्री कौन नहीं बनना चाहता है? हमारे पक्ष में, 5-7 उम्मीदवार होंगे जो सक्षम और प्रतिभाशाली हैं, लेकिन केवल एक व्यक्ति ही सीएम हो सकता है. जब कोई सीएम बनता है, तो बाकी सभी चुप हो जाते हैं.”

बता दें कि एसओजी ने इस बारे में दो मोबाइल नंबरों की निगरानी के आधार पर राज्य में विधायकों की खरीद-फरोख्त और निर्वाचित सरकार को अस्थिर करने के आरोपों के संबंध में शुक्रवार को एक मामला दर्ज किया. बताया जा रहा है कि बीजेपी के दो नेताओं से एसओजी ने गिरफ्तार किया है.

दरअसल, गत 19 जून को राज्य से राज्यसभा की तीन सीटों के लिए चुनाव से पहले सत्तारूढ़ कांग्रेस ने कुछ विधायकों को प्रलोभन दिए जाने का आरोप लगाया था. पार्टी की ओर से इसकी शिकायत विशेष कार्यबल (एसओजी) को की गई. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा था कि राज्य में विधायकों को प्रलोभन दिया जा रहा है और करोड़ों रुपए की नकदी जयपुर स्थानांतरित हो रही है.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा, “मेरे जितने भी साथी हैं सबको सरकार बचाने के लिए संघर्ष करना पड़ता है. जब वाजपेयी जी प्रधानमंत्री थे, तब ये बात नहीं थी पर 2014 के बाद भाजपा को इतना घमंड आ गया है कि खुल के देश के सामने आकर धर्म, जाति के नाम पर लोकतंत्र की हत्या करने में लगी है”.

राजस्थान CM अशोक गहलोत ने कहा, “राहुल गांधी और सोनिया गांधी के ऊपर अटैक करने के लिए ये अपने मंत्रिमंडल को उतारते हैं. ये कांग्रेस मुक्त भारत की बात करते थे पर अब कांग्रेस के नाम से डरते हैं. राजस्थान में सरकार स्थिर है, स्थिर रहेगी, 5 साल चलेगी और अगला चुनाव जीतने की तैयारी में लग गई है”.

भाजपा के लोग सरकार को गिराने का षड्यंत्र रच रहे
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी के लोग उनकी सरकार को गिराने का षड्यंत्र रच रहे हैं लेकिन उनकी सरकार स्थिर है, स्थिर रहेगी और पांच साल चलेगी. संवाददाताओं से बातचीत में गहलोत ने कहा, ”कोरोना वायरस संक्रमण के वक्त में भाजपा के नेताओं ने मानवता व इंसानियत को ताक पर रख दिया है … ये लोग सरकार गिराने में लगे हैं. ये लोग (भाजपा नेता) सरकार कैसे गिरे, किस प्रकार से तोड़-फोड़ करें… खरीद फरोख्त कैसे करें … इन तमाम काम में लगे हैं.”

केंद्रीय नेताओं के इशारे पर सतीश पूनियां, गुलाब चंद कटारिया खेल खेल रहे हैं
गहलोत ने इस बारे भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां, नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया व उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ का नाम लेते हुए कहा, ”सरकार को गिराने के लिए ये लोग अपने केंद्रीय नेताओं के इशारे पर जिस तरह का खेल खेल रहे हैं वे तमाम बातें जनता के सामने आ चुकी हैं.”

सरकार स्थिर, पांच साल चलेगी, अगला चुनाव जीतने की तैयारी भी शुरू कर दी है
इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने कहा, राजस्थान में सरकार स्थिर है, स्थिर रहेगी और पांच साल चलेगी.” मुख्‍यमंत्री गहलोत ने कहा हमने तो अगला चुनाव जीतने की तैयारी भी शुरू कर दी है इसी हिसाब से बजट पेश किया गया और इसी के अनुरूप शासन दिया जा रहा है.