जयपुर: राजस्थान को 10वीं की बची हुई परीक्षाएं कल और परसों आयोजित कराने के लिए सुप्रीम कोर्ट से इजाजत मिल गई है. सुप्रीम कोर्ट में रविवार यानी आज अवकाशकालीन बेंच ने विशेष सुनवाई में वह याचिका खारिज कर दी जिसमें सूबे में कोरोना के बढ़ते खतरे के मद्देनजर परीक्षा अभी न कराए जाने की मांग की गई थी. उच्चतम न्यायालय ने रविवार को एक अत्यावश्यक सुनवाई के दौरान राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा 29 और 30 जून को कराई जा रही, 10वीं की बची हुई दो परीक्षाओं को रद्द किये जाने की मांग वाली याचिका खारिज कर दी. प्रदेश सरकार की तरफ से पेश हुए एक वकील ने यह जानकारी दी. Also Read - बीजेपी में शामिल नहीं होंगे सचिन पायलट, बोले- सीएम का बैक गार्डन बहुमत साबित करने की जगह नहीं है

न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर, दिनेश माहेश्वरी और संजीव खन्ना की पीठ ने रविवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये हुए सुनवाई में माघी देवी नाम की महिला द्वारा दायर याचिका को खारिज कर दिया. प्रदेश सरकार की तरफ से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता मनीष सिंघवी ने कहा कि याचिकाकर्ता और प्रदेश सरकार का पक्ष सुनने के बाद न्यायालय ने याचिका को खारिज कर दिया. Also Read - राजस्थान भाजपा प्रमुख बोले- हम 75 हैं, पर कई विधायक हमसे जुड़ना चाहते हैं

न्यायालय एक परीक्षार्थी की मां माघी देवी द्वारा दायर राजस्थान उच्च न्यायालय के 29 मई के आदेश के खिलाफ दायर याचिका पर सुनवाई कर रहा था. उच्च न्यायालय ने भी राज्य माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा कराई जा रही बची परीक्षाओं को रद्द करने की मांग वाली याचिका को खारिज कर दिया था. Also Read - श्री पद्मनाभस्वामी मंदिर: SC का राज परिवार के पक्ष में फैसला, केरल Govt ने दी ये प्रतिक्र‍िया

बता दें कि राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की कक्षा 10वीं के दो शेष पेपर सोमवार से शुरू होने हैं. इस पर रोक लगाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की गई थी जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया. हालांकि कोरोनावायरस संक्रमण के बीच आयोजित यह परीक्षा बोर्ड और राज्य सरकार दोनों के लिए बड़ी चुनौती है.

शेष रहे दोनों पेपर सामाजिक विज्ञान और गणित की परीक्षा में प्रत्येक में 11.5 लाख स्टूडेंट्स बैठेंगे. लॉकडाउन से पहले 12 मार्च को 10वीं की परीक्षा का आयोजन किया गया था, जो 19 मार्च को स्थगित कर दी गई थी. हिंदी, इंग्लिश, थर्ड लेंग्वेज और विज्ञान की परीक्षाएं पहले ही हो चुकी हैं.

सोमवार को पहले दिन सामाजिक विज्ञान का पेपर होगा. उसके बाद मंगलवार को गणित का पेपर होगा. परीक्षा का समय सुबह 8:30 बजे से शुरू होगा. साथ ही परीक्षार्थियों को एक घंटा पहले परीक्षा केंद्रों पर पहुंचने के लिए कहा गया है.