जयपुर: राजस्थान की राजधानी जयपुुुर में बहुजन समाज पार्टी के दो वरिष्ठ नेताओं को पार्टी के ही कुछ कार्यकर्ताओं ने टिकट वितरण में भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए जूतों की माला पहना दी और उनके चेहरे पर कालिख पोत दी. यह घटना मंगलवार को यहां बनीपार्क स्थित बसपा कार्यालय में हुई. इसका वीडियो सामने आया है. बसपा के कुछ कार्यकर्ताओं ने पार्टी के राष्ट्रीय समन्वयक रामजी गौतम और पार्टी की राज्य इकाई के प्रभारी सीताराम के चेहरे पर काली स्याही पोत दी और उन्हें जूतों की माला पहना दी. उन्होंने गौतम को गधे पर भी बैठा दिया. घटना का वीडियो भी वायरल हुआ है.

वहीं, बसपा प्रमुख मायावती ने इस घटना को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा है. खबरों के अनुसार बसपा के कुछ कार्यकर्ताओं ने पार्टी के राष्ट्रीय समन्वयक रामजी गौतम और पार्टी की राज्य इकाई के प्रभारी सीताराम के चेहरे पर काली स्याही पोत दी और उन्हें जूतों की माला पहना दी. उन्होंने गौतम को गधे पर भी बैठा दिया.

पार्टी कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि इन दोनों नेताओं ने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ विश्वासघात किया है. वे कार्यकर्ताओं की दुर्दशा को पार्टी की प्रमुख मायावती तक नहीं पहुंचाते हैं और भ्रष्टाचार करते हैं.

घटना के संबंध में एक कार्यकर्ता ने कहा,‘‘हमारे कार्यकर्ता अपने नेताओं से परेशान हैं. कार्यकर्ता पांच साल मेहनत करते हैं, लेकिन नेता पैसे लेकर भाजपा और कांग्रेस के पैराशूट उम्मीदवारों को टिकट देते हैं. बसपा कार्यकर्ताओं और नेताओं को नजरअंदाज किया जाता है और उनका शोषण किया जाता है.’’

बसपा प्रमुख मायावती ने इस घटना की निंदा करते हुए कांग्रेस पार्टी पर राज्य में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं पर हमला कराने का आरोप लगाया.

मायावती ने ट्वीट किया, ”कांग्रेस पार्टी ने पहले राजस्थान में बसपा विधायकों को तोड़ा और अब मूवमेन्ट को अघात पहुंचाने के लिए वहाँ वरिष्ठ लोगों पर हमला करा रही है जो अति-निन्दनीय और शर्मनाक है.”

बीएसपी चीफ ने लिखा है, ”कांग्रेस अम्बेडकरवादी मूवमेन्ट के खिलाफ काफी गलत परंपरा डाल रही है, जिसका जैसे को तैसा जवाब लोग दे सकते हैं. अतः कांग्रेस को अपनी ऐसी घिनौनी हरकतों से बाज़ आ जाना चाहिए.”

बता दें राज्य में बसपा के टिकट पर चुने गए सभी छह विधायक कुछ दिन पहले कांग्रेस में शामिल हो गए थे. इसके बाद भी पार्टी मुख्यालय में हुई बैठक में हंगामा और मारपीट हुई थी.