पोकरण: राजस्थान सरकार में कैबिनेट मंत्री सालेह मोहम्मद शिवभक्त भी हैं. आज वह एक बार फिर वह पोकरण से करीब चार किलोमीटर दूर सिद्धेश्वर मंदिर पहुंचे और उन्होंने शिवलिंग की पूजा करते हुए गन्ने का रस, दूध चढ़ाया. इस दौरान मंदिर के पुजारी ने खुलासा किया कि सालेह मोहम्मद आज ही नहीं बल्कि पिछले 10 साल से मंदिर आ रहे हैं. वह इतने सालों से नियमित पूजा अर्चना करते हैं. उन्होंने खुलासा करते हुए कहा कि इस बारे में कभी बात नहीं हुई, लेकिन सालेह मोहम्मद को भगवान शिव में आस्था है.Also Read - Rajasthan CM गहलोत ने कहा- उम्मीद है कि अमरिंदर सिंह कांग्रेस के लिए नुकसान पहुंचाने वाला कदम नहीं उठाएंगे

Also Read - Rajasthan: पंजाब के सियासी घटनाक्रम के बीच CM अशोक गहलोत के OSD के ट्वीट से विवाद, भेजा इस्‍तीफा

मंत्री बनने के बाद सालेह मोहम्मद आज पहली बार पोकरण के पास स्थिति शिव मंदिर पहुंचे. कुरता पजामा पहने और लाल टोपी लगाए सालेह मोहम्मद ने पुजारियों के सहयोग से पूजा की. सालेह ने शिवलिंग पर दूध, गन्ने का रस चढ़ाया. उन्होंने तिलक लगवाते हुए कलेवा बंधवाया. उनकी इस पूजा की चर्चा हो रही है. बताते हैं कि सालेह अक्सर तिलक लगाए दिखते हैं. Also Read - Rajasthan: पिता ने 4 बेटियों को पहले जहर खिलाया, पानी के टैंक में डुबोकर मारा, फिर सुसाइड की कोशिश की

‘शिवभक्त’ होने का मतलब अच्छे से समझते हैं राहुल गांधी, ‘टेंपल रन’ के सवालों का शशि थरूर ने दिया जवाब

मंदिर के पुजारी पंडित मधुसूदन ने खुलासा करते हुए कहा कि पहली बार चर्चा हो रही है, लेकिन सालेह मोहम्मद पहली बार नहीं बल्कि 10 साल से मंदिर आ रहे हैं. उनकी श्रद्धा हिन्दू धर्म में है. वह शिवलिंग की पूजा करते आ रहे हैं. उन्होंने बताया कि इस मंदिर में कलन्दर सांप भी पहुंचता है और शिवलिंग पर लिपटा हुआ भी दिखता है. यहां आने से मनोकामनाएं पूरी होती हैं.