जयपुर: राजस्थान में हाल ही खत्म हुए राजनीतिक संकट के बीच कांग्रेस नेता अजय माकन को अविनाश पांडे की जगह राजस्थान मामलों का प्रभारी महासचिव नियुक्त किया गया है. दरअसल कांग्रेस ने राजस्थान में बागियों द्वारा उठाए गए मुद्दों के समाधान के लिये तीन सदस्यीय समिति का भी गठन किया है. इस समिति में संगठन महासचिव अहमद पटेल और अजय माकन इसके सदस्य होंगे.Also Read - 12 दिसंबर को दिल्ली में होगी कांग्रेस की ‘महंगाई हटाओ रैली’, सोनिया और राहुल करेंगे संबोधित

कांग्रेस पार्टी ने रविवार को जानकारी देते हुए कहा, “कांग्रेस ने पार्टी के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल, केसी वेणुगोपाल (AICC महासचिव, प्रभारी संगठन) और अजय माकन (AICC महासचिव, प्रभारी, राजस्थान) के साथ एक समिति का गठन किया है, यह सदस्य ‘राजस्थान में विधायकों द्वारा हाल ही में उठाए गए मुद्दों के समाधान के लिए काम करेंगे.” Also Read - Constitution Day: संविधान दिवस आज, संसद में होने वाले समारोह का कांग्रेस ने किया बहिष्कार, जानें वजह

राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने इस समिति के गठन का स्वागत किया है. उन्होंने ट्वीट कर कहा, “श्री अजय माकन जी को राजस्थान प्रभारी महासचिव नियुक्त किए जाने पर हार्दिक बधाई. आपकी नियुक्ति से निश्चित ही राजस्थान कांग्रेस के कार्यकर्ताओं की उम्मीदों को बल मिलेगा. उज्ज्वल भविष्य की कामना के साथ मैं अजय माकन जी का वीर भूमि राजस्थान में स्वागत भी करता हूँ.” Also Read - Rajasthan: BJP की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक अगले माह, अमित शाह भी होंगे शामिल

पायलट ने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा, “राजस्थान में समन्वय स्थापित करने के लिए आज श्री अहमद पटेल, श्री केसी वेणुगोपाल, श्री अजय माकन के रूप में तीन सदस्यीय कमेटी नियुक्त करने के लिए कांग्रेस नेतृत्व का आभार. मुझे पूर्ण विश्वास है कि कमेटी के मार्गदर्शन में राजस्थान में संगठन को एक नई दशा और दिशा मिलेगी.”

बता दें कि राजस्थान में लगभग एक महीने से चल रही सियासी खींचतान व अटकलों का दौर शुक्रवार को समाप्त हो गया जब अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार ने विधानसभा में विश्वास मत जीत लिया. सदन ने सरकार द्वारा लाए गए विश्वास मत प्रस्ताव को ध्वनिमत से पारित कर दिया.

उल्लेखनीय है कि यह सारा राजनीतिक संकट उस समय शुरू हुआ जब कांग्रेस द्वारा कुछ विधायकों को प्रलोभन दिए जाने के आरोप लगाए. उसके बाद सचिन पायलट की अगुवाई में कांग्रेस के 19 विधायक बगावत कर गए. कांग्रेस ने पायलट को उपमुख्यमंत्री व पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष पद से हटा दिया. ये विधायक दिल्ली में पार्टी आलाकमान के हस्तक्षेप के बाद ही जयपुर लौटे और विधानसभा की कार्यवाही में भी शामिल हुए. सदन की कार्यवाही अब 21 अगस्त को होगी.