जयपुर/ नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को राजस्थान के जयपुर में कांग्रेस पर तीखा प्रहार किया तो कांग्रेस ने भी जमकर जवाबी हमला बोला है. पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी को इन दिनों लोग ‘बेल गाड़ी’ के नाम से पुकारने लगे हैं, क्योंकि वर्तमान समय में कांग्रेस के कई दिग्गज नेता एवं पूर्व मंत्री बेल (जमानत) पर बाहर हैं. मोदी ने कांग्रेस द्वारा सेना की क्षमताओं पर सवाल उठाने की आलोचना करते हुए कहा कि देश के लोग उन्हें कभी माफ नहीं करेंगे. वहीं, कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हमले पर पलटवार करते हुए कहा कि उसकी सरकार आने पर भ्रष्टाचार में शामिल बीजेपी के लोग ‘बेल पर नहीं, बल्कि जेल में होंगे.’ Also Read - पीएम मोदी कोरोना के हालात पर 23 सितंबर को राज्यों के मुख्यमंत्रियों से करेंगे बातचीत! क्या फिर से लगेगा लॉकडाउन?

Also Read - Corona Effect: इस राज्य में तेजी से फैला कोरोना का संक्रमण, 11 जिला मुख्यालयों में लगानी पड़ी धारा -144

कांग्रेस अब ‘बेल गाड़ी’, इसके कई नेता और मंत्री इन दिनों जमानत पर हैं : पीएम मोदी Also Read - कांग्रेस PM राहत कोष पर जवाब नहीं दे सकती तो ‘PM केयर्स’ पर सवाल पूछने का अधिकार नहीं: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

मोदी ने जयपुर जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि सभी जानते हैं कि पूर्ववर्ती सरकार ने किस नीयत से काम किया और इसी नीयत का परिणाम है कि कांग्रेस को आजकल कुछ लोग बेल गाड़ी बोलने लगे हैं. कांग्रेस के दिग्गज कहे जाने वाले कई नेता और कई पूर्व मंत्री आजकल बेल पर यानि जमानत पर हैं. लेकिन जनता ने जिस भरोसे के साथ कांग्रेस की संस्कृति का नकारा और भाजपा को जनादेश दिया उस भरोसे को दिनों दिन मजबूत करने का काम भाजपा की सरकार कर रही है.

सरकार आयी तो भाजपा के ‘भ्रष्ट’ लोग बेल पर नहीं, जेल में होंगे: कांग्रेस

कांग्रेस पार्टी प्रवक्ता आरपीएन सिंह ने मीडियाकर्मियों से कहा, ”जीएसपीसी (गुजरात स्टेट पेट्रोलियम कारपोरेशन) में हजारों करोड़ रुपए के घोटाले की बात आई. अमित शाह के पुत्र ने क्या किया, वह सबको पता है. इस सरकार के कई मंत्रियों के बारे में हमने भ्रष्टाचार का खुलासा किया. किसी के खिलाफ भी प्रधानमंत्री ने जांच तक नहीं कराई.” उन्होंने कहा, जिस दिन हमारी सरकार आएगी भ्रष्टाचार के इन सभी मामलों की जांच कराई जाएगी. उसके बाद जो भ्रष्ट मिलेंगे वो बेल पर नहीं रहेंगे बल्कि जेल में होंगे.”

किसानों को ट्रैक्टर से बैलगाड़ी पर ला दिया

कांग्रेस प्रवक्ता सिंह ने दावा किया कि पिछले चार वर्षों में प्रधानमंत्री मोदी ने किसानों को ‘ट्रैक्टर से बैलगाड़ी’ पर लाने का काम किया है. आरपीएन सिंह ने दावा किया कि प्रधानमंत्री की आज की रैली के लिए सरकार के करोड़ों रुपए खर्च किए गए और किसानों को इसमें शामिल होने से रोका गया.

विरोधियों ने सेना की क्षमता पर सवाल उठाए

पीएम ने कहा कि यह दुर्भाग्य की बात है कि राजनैतिक विरोधियों ने सेना की क्षमता पर सवाल उठाने का पाप किया है. यह पहले कभी नहीं हुआ, राजस्थान और देश के लोग ऐसी राजनीति करने वालों को कभी माफ नहीं करेगें. उन्होंने कहा कि जिनको परिवार और वंशवाद की राजनीति करनी हो करें, लेकिन देश की रक्षा और स्वाभिमान को शिखर पर ले जाने का हमारा निश्चय अटूट है और हमारी नीतियां साफ हैं. यही कारण है जो ‘वन रैंक वन पेंशन’ का मुद्दा सालों से अटका हुआ था, इस सरकार ने उसका भी समाधान किया.

बीजेपी का नाम सुनते ही नींद खराब हो जाती

प्रधानमंत्री ने कहा कि देश आज एक अहम मोड़ पर खड़ा है और हम एक नई दिशा की ओर हम चल पडे़ हैं और मुझे विश्वास है कि जनता के सहयोग से सरकार अपने वायदों को पूरा करने में सफल होगी. उन्होंने किसी का नाम लिए बिना विपक्ष पर हमला करते हुए कहा कि एक वर्ग है, जिसकी भाजपा का नाम सुनते ही नींद खराब हो जाती है, मोदी या वसुंधरा राजे का नाम सुनते ही उनको बुखार चढ़ जाता है, उनको ऐसे कार्यक्रमों से नफरत होती है लेकिन इस तरह के कार्यक्रम का सबसे बड़ा लाभ यह है कि लोगों में जागरूकता आती है.

प्रधानमंत्री कुछ भी कहें, जनता सब जानती है: पायलट

राजस्थान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा कि अब पीएम मोदी की सभाओं से कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है, क्योंकि राज्य की जनता सब जानती है और चुनाव से चार महीने पहले ही कांग्रेस के पक्ष में अपना मन बना चुकी है. पायलट ने कहा, ”प्रधानमंत्री ने कुछ ठोस नहीं कहा, क्योंकि केंद्र और राजस्थान की सरकार के पास बताने के लिए कुछ नहीं है. पायलट ने कहा सीएम वसुंधरा राजे पर तंज कसते हुए कहा, प्रधानमंत्री ने आधे मन से मुख्यमंत्री की तारीफ की. जब मुख्यमंत्री को लगा कि अब उनके कार्यक्रमों में भीड़ नहीं आ रही है तो उन्होंने प्रधानमंत्री की सभा कराई. लेकिन इससे कुछ नहीं होने वाला है, क्योंकि जनता सब जानती है और अपना मन बना चुकी है.  ( इनपुट- एजेेंसी)