नई दिल्‍ली: राजस्‍थान में कांग्रेस की सरकार पर आए संकट के बीच मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत के निवास पर विधायक दल की बैठक शुरू हो चुकी है. सूत्रों का कहना है कि इस बैठक में 90 से ज्‍यादा विधायक मौजूद हैं. मुख्‍यमंत्री निवास के बाहर भारी संख्‍या में पुलिस बल के जवान तैनात हैं. जबकि डिप्‍टी सीएम सचिन पायलट ने कल दावा किया था कि कांग्रेस के 30 से अधिक विधायकों और कुछ निर्दलीय विधायकों का समर्थन प्राप्‍त है. Also Read - आज खत्म हो रहा सोनिया गांधी का कार्यकाल, अब कौन बनेगा कांग्रेस अध्यक्ष? पार्टी ने बताया आगे का प्लान

कांग्रेस अभी भी अपने और विधायकों के आने का इंतजार कर रहे हैं, वहीं, सूत्रों का कहना है कि सचिन पायलट के पास 25 विधायक हैं. राज्‍य में बहुमत के लिए 101 विधायक चाहिए. वहीं, मंत्री ने प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा, केंद्र में भाजपा सरकार के अंत की शुरुआत राजस्थान से शुरू होगी. राजस्थान के लोग चाहते हैं कि सीएम अशोक गहलोत के नेतृत्व में सरकार अपना पूरा कार्यकाल पूरा करे. कल रात 115 विधायक हमारे साथ थे, अब 109 हमारे साथ हैं. हम नंबर गेम जीत रहे हैं. Also Read - राजस्थान में 52 हज़ार पार हुई संक्रमितों की संख्या, बुरा है इन इलाकों का हाल

कांग्रेस विधायक दल की बैठक के लिए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के जयपुर में 90 से अधिक विधायक मौजूद हैं बैठक शुरू हो गई है. बैठक राज्य में जारी मौजूदा राजनीतिक संकट के बीच बुलाई गई है, क्योंकि उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट खुलकर गहलोत के विरोध में आ गए हैं. पायलट ने रविवार को एक बयान जारी कर कहा था कि वह बैठक में शामिल नहीं होंगे.

पायलट ने यह भी दावा किया था कि कांग्रेस के 30 से अधिक विधायकों और कुछ निर्दलीय विधायकों द्वारा उन्हें समर्थन देने के वादे के बाद अशोक गहलोत सरकार अल्पमत में है. राजस्थान विधानसभा में उप मुख्य सचेतक महेंद्र चौधरी ने संवाददाताओं से कहा कि राज्य की अशोक गहलोत सरकार को कोई दिक्कत नहीं होगी और भाजपा के किसी भी तरह के मंसूबे राज्य में कामयाब नहीं होंगे. चौधरी ने मुख्यमंत्री निवास के बाहर संवाददाताओं से कहा, आज का दिन तय कर देगा कि संख्या बल किसके पास है. चौधरी ने कहा, आज यह संख्या और बढ़ेगी. उन्होंने कहा, राज्य में कोई संकट या दिक्कत नहीं है.

पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव अविनाश पांडे ने रविवार देर रात कहा था कि 109 विधायकों ने गहलोत सरकार का खुलकर समर्थन किया है. बता दें कि 200 सदस्यों की विधानसभा में कांग्रेस के 107 और भाजपा के 72 विधायक हैं.

वहीं, कांग्रेस प्रवक्‍ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, मैं सभी कांग्रेस विधायकों से अपील करता हूं कि लोगों ने राज्य में स्थिर सरकार का नेतृत्व करने के लिए कांग्रेस को वोट दिया है, इसलिए सभी विधायकों को आज कांग्रेस विधायक दल की बैठक में भाग लेना चाहिए और राज्य में हमारे सरकार को मजबूत बनाना चाहिए.

रणदीप सुरजेवाला ने कहा, यदि कोई भी, किसी भी पद या प्रोफ़ाइल पर है, तो कोई समस्या है, उन्हें आगे आना होगा और पार्टी फोरम पर इस मुद्दे का उल्लेख करना होगा. हम इसे एक साथ हल करने और राज्य में अपने सरकार को बरकरार रखने के लिए काम करेंगे.