जयपुर: लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी हार के बाद कांग्रेस शासित प्रदेशों में ज्यादा फजीहत हुई है. हाल ये है कि कांग्रेस के विधायक ही पार्टी को लेकर बयानबाजी कर रहे हैं. कुछ ऐसा ही हाल राजस्थान का है. राजस्थान में सत्तारूढ़ कांग्रेस के एक विधायक ने बुधवार को कहा कि लोकसभा चुनाव में पार्टी की करारी हार की जिम्मेदारी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को लेनी चाहिए. इसके साथ ही विधायक पृथ्वीराज मीणा ने उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाने की मांग की है.

 

कांग्रेस में कलहः अशोक गहलोत बोले- सचिन पायलट को मेरे बेटे की हार की जिम्मेदारी लेनी चाहिए

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को राज्य में सभी 25 सीटों पर हार का मुंह देखना पड़ा और उसके बाद से पार्टी में खेमेबाजी और खींचतान चल रही है. टोडाभीम सीट से कांग्रेस विधायक मीणा ने यहां पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में संवाददाताओं से कहा कि जब पार्टी सत्ता में होती है जो हार की जिम्मेदारी मुख्यमंत्री की होती है और अगर पार्टी विपक्ष में होती है जो यह जिम्मेदारी पार्टी अध्यक्ष की रहती है.उन्होंने कहा कि सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाया जाना चाहिए. यह मेरी व्यक्तिगत राय है.’ मीणा ने कहा कि वह यह बात पहले भी कह चुके हैं क्योंकि विधानसभा चुनाव में पार्टी उन्हीं के कारण जीती.

नाराजगी: राहुल गांधी की सीएम अशोक गहलोत से ऐसी बेरुखी, समय देने के बाद मिलने से किया इंकार

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री गहलोत ने हाल ही में एक टीवी चैनल को साक्षात्कार में कहा कि प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट को कम से कम जोधपुर सीट पर पार्टी की हार की जिम्मेदारी तो लेनी ही चाहिए क्योंकि वह वहां शानदार जीत का दावा कर रहे थे. इसके बाद गहलोत व पायलट के समर्थन में अलग अलग बयान आ रहे हैं.

राजस्थान में कांग्रेस सरकार बनने के 4-5 महीने बाद जनता ने BJP को चुना, इसका करेंगे विश्लेषण: पायलट