भीलवाड़ा/डूंगरपुर/कोटा: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को आतंकवाद व नक्सलवाद को लेकर कांग्रेस के रुख पर निशाना साधा और कहा कि इस पार्टी ने कभी भी आदिवासियों की परवाह नहीं की. मोदी ने 26/11 का जिक्र करते हुए कहा, ” मैं उन रागदरबारियों से पूछना चाहता हूं, मैं उस कांग्रेस पार्टी से पूछना चाहता हूं कि 10 साल पहले 26 नवंबर को आतंकवाद की इतनी बड़ी भयंकर घटना घटी, सारी दुनिया हिल गई थी और कांग्रेस उसमें से चुनाव जीतने के खेल खेल रही थी.” इसके साथ ही उन्होंने तंज कसा कि जिन्हें मूंग और चने में फर्क नहीं पता वे किसान की बात कर रहे हैं. मोदी ने कांग्रेस में परिवारवाद पर प्रहार किया और खुद को कामदार बताया. Also Read - दिग्विजय और कमलनाथ को ‘चुन्नू-मुन्नू’ बताया, बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय को चुनाव आयोग का नोटिस

प्रधानमंत्री ने अपने एक दिवसीय दौरे के दौरान राजस्‍थान में सोमवार को तीन रैलियों को संबोधित किया. राज्य की 200 सीटों के लिए सात दिसंबर को मतदान होना है.

राजस्थान के रण में गरजे राजनीति के महारथी, चरम पर पहुंचा चुनाव प्रचार

देश 26/11 के गुनहगारों को नहीं भूलेगा, हम मौके की तलाश में हैं

मुंबई में आतंकी हमलों की दसवीं बरसी पर भीलवाड़ा में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, हिंदुस्तान कभी 26/11 को भूलेगा नहीं और 26/11 के गुनहगारों को भी. हम मौके की तलाश में हैं. मोदी ने यहां किसी का नाम नहीं लिया. इस आतंकी हमले में 60 घंटे में 166 लोग मारे गए थे. हमलों में जान गंवाने वालों से एकजुटता दिखाते हुए मोदी ने कहा कि कानून अपना काम करेगा, मैं देशवासियों को फिर से एक बार विश्वास दिलाता हूं.

पाक में घुसकर सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक की तो कांग्रेस ने सवाल उठाया

पीएम मोदी ने कहा, ”वही कांग्रेस देशभक्ति के पाठ पढ़ाती थी, लेकिन जब मेरे देश की सेना ने पाकिस्तान के घर में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक की, आतंकवादियों का हिसाब चुकता कर दिया, जब देश की सेना ने इतना बड़ा पराक्रम किया, दुश्मनों को जाकर उसके घर में मारा ऐसे समय कांग्रेस ने सवाल उठाया, वीडियो दिखाओ सर्जिकल स्ट्राइक हुआ कि नहीं. क्या देश की सेना का जवान मौत को मुट्ठी में लेकर निकलता है वह हाथ में कैमरा लेकर जाएगा क्या?”

माओवादियों को क्रांतिकारी का सर्टिफिकेट दे रहे

पीएम मोदी ने कहा, कांग्रेस के नेता सेना के जवानों को मौत के घाट उतारने वाले माओवादियों को क्रांतिकारी होने के सर्टिफिकेट दे रहे हैं. हमने माओवाद को भी उसी की भाषा में जवाब दिया है, आतंकवाद को भी उसी की भाषा में जवाब दिया है.

जिन्हें मूंग और चने में फर्क नहीं वे किसान की बात कर रहे

आदिवासी बहुल डूंगरपुर जिले में बेणेश्वर धाम में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए मोदी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने कभी आदिवासियों की परवाह नहीं की. इसके उन्होंने तंज कसा कि जिन्हें मूंग और चने में फर्क नहीं वे किसान की बात कर रहे हैं. मोदी ने कहा, ”मूंग और चने में जिनको फर्क पता नहीं है वे किसान की बात कर रहे हैं. उन्होंने कहा देश का दुर्भाग्य रहा कि कांग्रेस के ऐसे नेता आए जिनको ये तक पता नहीं है कि चने का पौधा होता है कि चने का पेड़ होता है.

बाबा साहेब ने भेदभाव को समाप्त करने का रास्ता दिखाया

मोदी ने ‘संविधान दिवस’ का जिक्र करते हुए कहा कि आज का दिन एक तरह से सवा सौ करोड़ हिंदुस्तानियों के हक का दिवस है. आज का दिवस दलित, पीड़ित, शोषित व वंचितों के गर्व का दिवस है. आज का दिवस सामाजिक न्याय में विश्वास करने वालों के लिए सम्मान का दिवस है. संविधान निर्माण में बाबा साहेब भीमराम आंबेडकर के योगदान को रेखांकित करते हुए मोदी ने कहा कि बाबा साहेब ने तो समाज के भेदभाव को समाप्त करने का रास्ता दिखाया था.

राजस्थान ने ठाना फिर भाजपा सरकार

जनसभा में उमड़ी भारी भीड़ से उत्साहित दिख रहे मोदी ने कहा, ”इस बार राजस्थान ने ठान ली है कि प्रदेश में फिर एक बार भाजपा सरकार बना के रहेंगे, विकास की यात्रा को और नई ताकत देंगे और नई गति देंगे. राजस्थान में नया इतिहास लिखने का काम राजस्थान की धरती करेगी इसका मुझको विश्वास है.”

वाजपेयी जब तक पीएम नहीं बने, कांग्रेस को आदिवासियों की याद नहीं आई

प्रधानमंत्री ने कहा कि आजादी के इतने सालों तक जब तक अटल बिहारी वाजपेयी देश के प्रधानमंत्री नहीं बने तब तक कांग्रेस को कभी आदिवासियों की याद नहीं आई. आदिवासी मांग करते थे कि हमारे लिए अलग मंत्रालय हो, अलग मंत्री हो अलग बजट हो हमारे विकास के लिए योजनाएं बनें, लेकिन कांग्रेस पार्टी को तो आदिवासियों की कोई परवाह नहीं थी. प्रधानमंत्री बनने के बाद वाजपेयी ने अलग आदिवासी मंत्रालय बनाया, आदिवासी मंत्री बनाया और आदिवासियों के लिए अलग बजट बनाया. तब से लेकर आदिवासियों के विकास की गाथा शुरू हुई.

2020 तक हर आदमी का पक्‍का मकान हो

मोदी ने कहा कि उनका संकल्प है कि 2022 तक देश के हर परिवार के पास उसका अपना पक्का मकान हो. उन्होंने कहा, ”मैंने व्रत लिया है, संकल्प लिया है कि 2022 में जब आजादी के 75 साल होंगे तब तक हिंदुस्तान में एक भी परिवार ऐसा नहीं होगा जिसका अपना खुद का पक्का घर नहीं होगा.”

कांग्रेस के दिमाग में जातिवाद भर गया है

प्रधानमंत्री आरोप लगाया कि कांग्रेस के दिमाग में जातिवाद भर गया है, जातिवाद का जहर उनकी रगों में है. उनको घुट्टी में ही पिला दिया जाता है. जातिवाद का जहर जाता ही नहीं है और उनको कभी महर्षि वाल्मिकी, कबीर, संत रविदास भी मिल जाएं तो उनको भी पूछ लेंगे आपकी जाति क्या है.

एक वोट की कीमत की ताकत जानने के लिए सोच बदलनी होगी

कोटा में मोदी ने कहा कि मतदाता के एक-एक वोट की ताकत से ही देश बदलता है. मोदी ने कहा कि लोगों को अपने एक वोट की कीमत की ताकत जानने के लिए अपनी सोच बदलनी होगी. आपका एक वोट देश को नई गति दे सकता है जो गति कांग्रेस 50-55 सालों में नहीं दे सकी.