Covid-19 Case in Rajasthan: राजस्थान में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus pandemic) के बढ़ते मामलों के बीच राज्य के तीन वरिष्ठ मंत्रियों के समूह को मंगलवार (27 अप्रैल, 2021) को दिल्ली भेजा गया है. मंत्री केंद्र से ऑक्सीजन (Oxygen) और दवाओं का आवंटन बढ़ाने और जरूरी चीजों की आपूर्ति सुनिश्चित करने की मांग करेंगे. मंत्रियों के इस समूह में चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा के अलावा बी. डी. कल्ला और शांति धारीवाल शामिल हैं.Also Read - भारत में आएगी कोरोना की चौथी लहर? इस आईआईटी प्रोफेसर ने किया है ये दावा-जानिए क्या कहा

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच राजस्थान में सरकारी और निजी अस्पतालों में ऑक्सीजन और रेमडेसिविर इंजेक्शन की कमी महसूस होने लगी है, जिसके समाधान के लिए मंत्रियों को दिल्ली भेजा गया है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देश पर गठित मंत्रिस्तरीय प्रतिनिधिमंडल के साथ वरिष्ठ अधिकारी सुधांशु पंत भी होंगे. वह दिल्ली में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन, पीयूष गोयल, नितिन गडकरी और मनसुख मंडाविया से मिलेंगे. Also Read - Covid 19 in India: देश में बढ़ रहा कोरोना का ग्राफ, दिल्ली में बढ़ रही कंटेनमेंट जोन्स की संख्या

गहलोत ने कहा कि मंत्रिस्तरीय प्रतिनिधिमंडल केंद्रीय मंत्रियों के साथ लोगों की दुर्दशा साझा करने और राजस्थान में लोगों के जीवन को बचाने के लिए उनसे आवश्यक संसाधनों की मांग करने के लिए दिल्ली जा रहा है. इस संबंध में एक समीक्षा बैठक सोमवार रात यहां आयोजित की गई थी, जिसमें यह फैसला लिया गया है. Also Read - CoronaVirus In India Latest Update: कोरोना की तेज रफ्तार ने बढ़ाई चिंता, आज मिले 3377 नए मरीज, 60 की मौत

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य मंत्रिमण्डल के सदस्य केंद्र सरकार से अपनी व्यथा बताने और प्रदेशवासियों की जीवन रक्षा के लिए आवश्यक संसाधनों की मांग करने के लिए दिल्ली जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि राज्य का मंत्री समूह केंद्रीय मंत्रियों के समक्ष इस बात को तार्किक ढंग से रखेगा कि राजस्थान को ऑक्सीजन तथा रेमडेसिविर आदि के निर्धारित कोटे की आपूर्ति नहीं मिल पा रही है. इस कारण प्रदेश में कोविड संक्रमित मरीजों के इलाज में बहुत अधिक परेशानी आ रही है.

मुख्यमंत्री गहलोत केंद्र सरकार के साथ-साथ अन्य राज्य के मुख्यमंत्रियों से भी संपर्क में हैं. उन्होंने अन्य राज्यों के कई मुख्यमंत्रियों से बात की है और टैंकरों से ऑक्सीजन की आपूर्ति करने की व्यवस्था के तौर-तरीकों पर चर्चा की जा रही है. गहलोत ने कहा कि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान प्रधानमंत्री के साथ रेमेडेसिविर और ऑक्सीजन की कमी पर चर्चा की गई थी, लेकिन मांग को पूरा किया जाना बाकी है, जो एक चिंताजनक कारक है. यह पहली बार है जब किसी राज्य के तीन मंत्री दिल्ली पहुंचेंगे और राज्य के लिए ऑक्सीजन और दवाओं की आपूर्ति की मांग करेंगे.

(आईएएनएस)