Divyang Mass Wedding Ceremony: सामूहिक विवाह समारोह में 21 दिव्यांग जोड़े शादी के बंधन में बंधने वाले हैं. इस दौरान ये जोड़े ‘दहेज को कहें ना’ का भी संकल्प लेंगे. इन जोड़ो का निशुल्क विवाह नारायण सेवा संस्थान की तरफ से 11 सितंबर को राजस्थान के उदयपुर में कराया जाएगा. इनमें से अधिकांश जोड़े ऐसे हैं, जिन्होंने संस्थान में ही निशुल्क सुधारात्मक सर्जरी करवाई है और बेहतर जीवन जीने के लिए कौशल प्रशिक्षण हासिल किया है. देश में जारी कोरोना संकट के बीच होने वाले इस सामूहिक वैवाहिक कार्यक्रम में कोविड प्रोटोकॉल का भी खास खयाल रखा जाएगा.Also Read - सामूहिक विवाह समारोह में शादी के बंधन में बंधें 21 जोड़े, 'दहेज को ना' का लिया संकल्प

संस्थान 21 सालों से सामूहिक विवाह का आयोजन करता आ रहा है. अब तक 35 विवाह समारोह आयोजित हो चुके हैं, जिनमें 2109 जोड़े विवाह सूत्र में बंध चुके हैं. बता दें कि कोरोना की पहली लहर के दौरान में 2020 में भी यहां विवाह समारोह सम्पन्न हुआ था. विवाह समारोह की जानकारी के लिए आयोजित वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस में संस्थान के अध्यक्ष प्रशांत अग्रवाल ने बताया कि यह 36वां सामूहिक विवाह समारोह है जो ‘दहेज को कहें ना!’ के प्रमुख अभियान के अपने 19 वें वर्ष में है. उन्होंने बताया कि विवाह समारोह में जो जोड़े शामिल हो रहे हैं वह राजस्थान, बिहार, छत्तीसगढ़ समेत कई अन्य राज्यों से भी हैं. Also Read - Rajasthan News: सामूहिक विवाह समरोह में शादी के बंधन में बंधेंगे 21 दिव्यांय जोड़े, लिया यह संकल्प...

बता दें कि महामारी के दौरान एनएसएस ने जरूरतमंदों की मदद के लिए भोजन और मास्क वितरण शिविरों का भी आयोजन किया था. इसके साथ-साथ संस्था की तरफ से कृत्रिम अंग वितरण, राशन किट वितरण, पीपीई किट और कोरोना किट के साथ कई अभियान भी चलाए गए हैं. Also Read - 'दिव्यांग टैलेंट और फैशन शो' का आयोजन करेगा नारायण सेवा संस्थान