Honor Killing In Rajasthan: राजस्थान के दौसा (Dausa Samachar) में प्रेम संबंधों के चक्कर में एक युवती की हत्या कर दी गई. हत्या और इसकी साजिश इतनी भयावह की आपकी रूह कांप जाए और हत्यारा कोई नहीं बल्कि बेटी का बाप ही था. दरअसल युवती पिंकी सैनी अपने प्रेमी रोशन महावर नाम के युवक के साथ रिलेशनशिप (Love Affair) में थी. लेकिन जब युवती ने अपने पिता से इस बाबत शादी कराने की बात की तो लड़की के पिता ने शादी कराने से मना कर दिया और किसी अन्य शख्स के साथ शादी कराकर विदा कर दिया.Also Read - 40 साल की प्रेमिका की बांहों में 61 साल के शख्स की हो गई मौत, महिला ने बताई हैरान करने वाली वजह, जानिए

अपने ससुराल से कुछ वक्त बाद पिंकी अपने मायके आई और अपने प्रेमी से संपर्क साधा और फिर दोनों कोर्ट पहुंच गए. इस दौरान प्रेमी युगल ने राजस्थाई हाईकोर्ट में एक साथ रहने और सुरक्षा प्रदान करने की मांग की. कोर्ट ने प्रेमी युगल के इन मांगों को मान लिया और दोनों को साथ में रहने की मंजूरी दे दी. लेकिन युवती जब अपने प्रेमी के साथ दौसा गई तो युवती के परिजनों की इसकी खबर लग गई और उन्होंने युवती को उठा लिया. युवती के गायब कर दिए जाने के बाद महिला थाने में प्रेमी ने शिकायत दर्ज कराई जिसके बाद पुलिस युवती की तलाश में जुट गई. Also Read - पाकिस्‍तान: दो बहनों की शादी चचेरे भाइयों से हुई थी, पतियों के स्‍पेन नहीं ले जा पाईं तो ससुर ने गोली मारकर हत्‍या की

पुलिस ने जब छानबीन की तो पुलिस को युवती तो नहीं मिली लेकिन युवती का मृत शरीर (Honor Killing) उसके पिता के घर से बरामद किया गया. पुलिस के मुताबिक उसके पिता ने अपनी ही बेटी को अगवा कर हत्या कर दी और खुद थाने में जाकर इस बात को स्वीकार किया कि उसने अपनी बेटी की हत्या की है. बता दें कि यह मामला अंतरजातीय प्रेम प्रसंग का था जिसपर कोर्ट ने प्रेमी जोड़े को प्रोटेक्शन दिया था. Also Read - UP: कानपुर में हत्या, लूट, जबरन वसूली के आरोपी मोहम्मद आसिफ उर्फ पप्पू स्मार्ट की अवैध संपत्ति पर चला योगी सरकार का बुल्‍डोजर

बता दें कि पुलिस ने युवती के शव को अपने कब्जे में लेकर परिजनों के हवाले करदिया है. साथ ही पिता व उसके साथ वारदात में शामिल लोगों को पुलिस ने हिरासत में रख रखा है. युवती को दूसरे जाति के युवक से प्रेम करने व उसके साथ रहने की कीमत अपनी जान देकर चुकानी पड़ी है. जबकि राजस्थान हाईकोर्ट द्वारा प्रेमी युगल को सुरक्षा प्रदान की गई थी.