जयपुर। एक तरफ जहां पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ कांग्रेस की अगुवाई में समूचे विपक्ष ने भारत बंद का ऐलान किया है वहीं राजस्थान के मंत्री ने बढ़ती कीमतों को लेकर जनता को ही कमखर्च की नसीहत दे डाली है. राजस्थान के मंत्री राजकुमार रिनवा ने तेल की बढ़ती कीमतों पर सरकार का बचाव करते हुए कहा कि वर्ल्ड मार्केट में क्रूड ऑयल के जो दाम होते हैं उसी हिसाब से चलता है. सरकार कोशिश कर रही है. इतने खर्चे हैं, बाढ़ा है चारों तरफ, इतना खर्च है. जनता समझती नहीं है कि क्रूड के दाम बढ़ गए तो कुछ खर्चे कम कर दे.

भारत बंद को सीएम ने बताया ड्रामा

वहीं, राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कांग्रेस के ‘भारत बंद’ को ‘ड्रामा’ बताते हुए कहा कि उन्होंने पेट्रोल और डीजल पर वैट घटाने का फैसला जनता को राहत पहुंचाने के लिए किया है. उन्होंने कहा कि यह उनकी जानकारी में था कि पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों के कारण लोगों का बजट प्रभावित हो रहा है इसलिए उन्होंने वैट घटाने का फैसला किया है.

उन्होंने कहा कि पेट्रोल और डीजल पर वैट कम करने से किसानों, महिलाओं, विद्यार्थियों, सरकारी कर्मचारी सहित जो लोग अपने वाहन का उपयोग करते हैं, उन्हें फायदा होगा. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री भी इस तरह की परेशानियों को समझते हैं इसलिए उन्होंने प्रधानमंत्री उज्जवला योजना शुरू की है जिसके तहत गरीब महिलाओं को निशुल्क गैस कनेक्शन दिया गया है और प्रदेश में इस योजना से करीब 33 लाख महिलाएं लाभान्वित हुई हैं.

भारत बंद के बीच आंध्र प्रदेश में जनता को राहत, पेट्रोल-डीजल के दाम 2 रुपये कम

कांग्रेस के भारत बंद की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा कि आज देशभर एक ‘ड्रामा’ चल रहा है लेकिन राजस्थान में इसका कोई असर नहीं है. हमने जनहित में पेट्रोल और डीजल पर वैट कम करने का निर्णय किया है. राजे ने कहा कि उनकी सरकार ने प्रदेश के तीन लाख किसानों को फायदा पहुंचाने के लिए 50 हजार रुपये तक के कर्ज माफ करने का निर्णय किया है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस पिछले 50 वर्षों में बहुत कुछ कर सकती थी लेकिन उसने नहीं किया. जब मैंने पिछले विधानसभा चुनावों के बाद सत्ता संभाली तो प्रदेश भारी कर्जे में डूबा था लेकिन मैंने जनता के कार्यों के लिए धन नहीं होने का कोई बहाना नहीं बनाया और जनता के लिए जो कुछ भी हो सकता था वह किया.