जयपुर: भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की विशेष शाखा ने शुक्रवार को उदयपुर के खनन विभाग कार्यालय में कार्यरत सुपरिटेंडेंट इंजीनियर दीवान सिंह देवड़ा को रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया. तलाशी अभियान में करोड़ों रुपये की संपत्ति के दस्तावेज बरामद किए गए हैं.

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के महानिदेशक आलोक त्रिपाठी ने बताया कि आरोपी सुपरिटेंडेंट इंजीनियर के खिलाफ परिवादी ने ब्यूरो में 5 माह पूर्व लिखित शिकायत देकर बताया था कि आरोपी अभियंता ने उसके स्टोन माइंस पर खड़े ट्रकों को अवैध रूप से सीज कर दिया एवं माइंस का अनावश्यक चालान भी बना दिया गया. शिकायती ने आरोप लगाया कि मामले को रफा-दफा करने के ऐवज में 7.5 लाख रुपए की रिश्वत की मांग की गई, जिसमें से 50 हजार रुपए पहले लिए जा चुके हैं.

शुक्रवार को सुपरिटेंडेंट इंजीनियर देवड़ा को गिरफ्तार किया गया. ब्यूरो ने देवड़ा एवं उनके पिता किशोर सिंह देवड़ा, करण सिंह (व्यवसायिक साझेदार), अवधेश सिंह एवं अन्य के विरूद्ध आय से अधिक संपत्ति के मामले में मुकदमा दर्ज किया है और ब्यूरो की सात अलग-अलग टीमों ने सर्च अभियान शुरू किया है.