नई दिल्ली. राजस्थान की राजधानी जयपुर में फोटोग्राफी के प्रशंसकों की भीड़ जुटने लगी है. क्योंकि जयपुर में इंटरनेशनल आउटडोर फोटोग्राफी फेस्टिवल ‘जयपुर फोटो’ के तीसरे संस्करण की शुरुआत हो गई है. इस महोत्सव में फोटोग्राफी जगत की मशहूर हस्तियां जुट रही हैं. इसमें देश और विदेश के मेहमान शामिल हो रहे हैं. पिछले तीन वर्षों से गुलाबी नगरी में आयोजित होने वाले इस फोटोग्राफी फेस्टिवल की शुरुआत 23 फरवरी को हुई. यह फेस्टिवल 23 फरवरी से 4 मार्च तक चलने वाला है. ‘जयपुर फोटो’ में इस बार चार स्थानों पर फोटो प्रदर्शनियां लगाई जाएंगी. इनमें हवामहल, सिटी पैलेस, जंतर-मंतर और अल्बर्ट हॉल संग्रहालय शामिल है.Also Read - 'इंडिया' शब्‍द हटाकर 'भारत' या 'हिंदुस्तान' करने की पिटीशन पर SC में 2 जून को सुनवाई

'जयपुर फोटो' आउटडोर फोटोग्राफी का अंतरराष्ट्रीय महोत्सव है. तस्वीर अस्मिता परेलकर की. (फोटो साभारः जयपुर फोटो.इन)

‘जयपुर फोटो’ आउटडोर फोटोग्राफी का अंतरराष्ट्रीय महोत्सव है. तस्वीर अस्मिता परेलकर की. (फोटो साभारः जयपुर फोटो.इन)

गुलाबी नगरी में तस्वीरों की 14 प्रदर्शनियां
महोत्सव के 2018 संस्करण की कला निर्देशक लोला मैकडौगल ने इस साल के संस्करण में जयपुर के जंतर-मंतर को जोड़ने को रेखांकित किया. उन्होंने कहा, ‘हमें फोटोग्राफी की इस संस्था को इस रूप में खड़ा करने में तीन साल लग गए, एक ऐसी संस्था जो इस विशाल उद्देश्य को पूरी कर सके.’ ऑरेंज कैट प्रोडक्शंस द्वारा राजस्थान सरकार के पर्यटन विभाग के सहयोग से प्रस्तुत कुल 14 प्रदर्शनियां पूरे जयपुर शहर में लगाई गई हैं. मैकडौगल का भाषण अतिथि क्यूरेटर एरोन स्कूमैन के बाद हुआ. स्कूमैन ने इस साल महोत्सव के विषय ‘होमवार्ड बाउंड’ के बारे में बात की. ‘होमवार्ड बाउंड’ सिमोन और गारफुंकेल द्वारा 1966 में गाए गए शास्त्रीय गाने से प्रेरित है. उन्होंने प्रदर्शनी में भाग ले रहे सभी छायाकारों के बारे में विस्तार से बताया. Also Read - भारत में जून-जुलाई में तबाही मचा सकता है कोरोना वायरस, अपने चरम पर होगा संक्रमण

जयपुर फोटो में अर्जेंटीना में जन्मे इटली के कलाकार नोला मिनोल्फी की तस्वीरें भी देख सकते हैं. (फोटो साभारः जयपुर फोटो.इन)

जयपुर फोटो में अर्जेंटीना में जन्मे इटली के कलाकार नोला मिनोल्फी की तस्वीरें भी देख सकते हैं. (फोटो साभारः जयपुर फोटो.इन)

12 फोटोग्राफर शिरकत कर रहे हैं फेस्टिवल में
‘जयपुर फोटो’ के तीसरे साल में इस बार महोत्सव में दुनियाभर के 12 बड़े फोटोग्राफर शिरकत कर रहे हैं. इनमें से चार भारतीय हैं. जयपुर के जिन चार महत्वपूर्ण स्थानों पर इस बार फोटो प्रदर्शनियां लगाई जाएंगी, उससे आम जनता को भी जोड़ने की कवायद की जा रही है. इसलिए तस्वीरें बड़े आकार की लगाई जा रही हैं ताकि लोग फोटो को देखकर उसे अनुभव भी कर सकें. मैकडौगल ने कहा कि फेस्टिवल के शुरुआती हफ्ते में जवाहर कला केंद्र में कई पैनल इवेंट्स होंगे. इसमें कार्यक्रमों की विविधता का ध्यान रखा जा रहा है. वहीं फेस्टिवल के दौरान फिल्में और डॉक्यूमेंट्री भी दिखाने की योजना है. फेस्टिवल में भाग लेने वाले चार भारतीय फोटोग्राफरों में अर्को दत्तो, अस्मिता परेलकर, सोहम गुप्ता और राम चंद शामिल हैं. वहीं विदेशी कलाकारों में अमेरिका के जेसॉन फुलफोर्ड, ब्रिटेन के जॉन मैक्लीन, अर्जेंटीना में जन्मे इटली के कलाकार नोला मिनोल्फी, जर्मनी के रेजिने पीटरसन, स्विटजरलैंड के साल्वोत्रे विटाले, स्पेन के सेबेस्टियन ब्रूनो, चेक गणराज्य के टेरेजा जेलेनोकोवा और नॉर्वे के टेरजे एबूसडेल शामिल हैं. Also Read - BRICS समूह के विदेश मंत्रियों की मीटिंग, जयशंकर बोले- कोरोना से जंग में 85 देशों की मदद कर रहा है भारत

जयपुर फोटो में भारतीय छायाकार राम चंद की तस्वीरें भी शामिल हैं. (फोटो साभारः जयपुर फोटो.इन)

जयपुर फोटो में भारतीय छायाकार राम चंद की तस्वीरें भी शामिल हैं. (फोटो साभारः जयपुर फोटो.इन)

हिन्दीभाषियों की सुविधा का भी ख्याल
‘जयपुर फोटो’ महोत्सव में अंग्रेजी की बहुलता को लेकर सवाल उठते रहे है. इसके मद्देनजर इस बार हिन्दीभाषी लोगों के लिए भी व्यवस्था की गई है. महोत्सव की कला निर्देशिका लोला मैकडौगल ने कहा कि जयपुर फोटो में आने वाले कई लोग हिन्दीभाषी होते हैं. उन्हें तस्वीरों का परिचय अंग्रेजी में होने से परेशानी होती है. इसलिए इस बार बहुसंख्यक हिन्दीभाषी समुदाय को देखते हुए तस्वीरों के परिचय हिन्दी में दे रहे हैं. इससे महोत्सव में हिन्दीभाषी दर्शकों का रुझान भी बढ़ेगा.

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)