जयपुर: पेट्रोल और डीजल की बढती कीमतों के विरोध में कांग्रेस के ‘भारत बंद’ का सोमवार को राजस्थान में मिला-जुला असर दिखाई दिया. प्रदेश में दुकानें बंद रही और कांग्रेस नेताओं एवं कार्यकर्ताओं ने जगह-जगह रैलियां निकाल कर विरोध प्रदर्शन किया. कांग्रेस ने राजधानी जयपुर सहित प्रदेश के विभिन्न जिलों में रैलियां निकाल कर विरोध प्रदर्शन किया.

Bharat Bandh: अखिलेश का बड़ा हमला, ‘जनता महंगाई से परेशान, भाजपा अहंकार में चूर’

जयपुर में निकाली गई रैली का नेतृत्व प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष सचिन पायलट, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव अविनाश पांडे तथा अन्य नेताओं ने किया. पायलट ने संवाददाताओं से कहा कि बंद का जनता ने समर्थन किया है और हमें प्रदेश की सभी शहरों कस्बों से बंद का अच्छा समर्थन मिला है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर वैट को चार प्रतिशत घटाया है जो पर्याप्त नहीं है, सरकार को कांग्रेस के दबाव में जनता को और सहायता पहुंचानी पड़ेगी.

भारत बंद के बीच आंध्र प्रदेश में जनता को राहत, पेट्रोल-डीजल के दाम 2 रुपये कम

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव अविनाश पांडे ने कहा कि बंद के आह्वान का जो हमें समर्थन मिला है वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए एक संदेश है. उन्होंने कहा कि ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी से हर व्यक्ति के घर का बजट बिगड़ गया है. रैली के दौरान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष सीपी जोशी, जिला कांग्रेस अध्यक्ष प्रताप सिंह खाचरियावास और अन्य नेता भी मौजूद थे. जयपुर में बंद को देखते हुए कई स्कूलों में छुट्टी रही. कुल मिलाकर बंद शांतिपूर्ण रहा और प्रदेश में कहीं से भी किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं मिली है.