नई दिल्ली: राजस्थान में कांग्रेस का सियासी संकट अब ख़त्म होने की ओर है. सचिन खेमे के विधायक दिल्ली से वापस जयपुर पहुँच रहे हैं. विधायक भंवरलाल शर्मा ने सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gahlot) से मुलाक़ात की. मुलाक़ात के बाद भंवरलाल शर्मा (Bhanwar Lal Sharma) ने अशोक गहलोत को अपना राजनीतिक गुरु बताया है. उन्होंने कहा कि अब नाराजगी दूर हो गई है. परिवार में झगड़ा था जो ख़त्म हो गया है. Also Read - यह 'नो-डेटा' सरकार है, पीएम की लोकप्रियता अब पहले जैसी नहीं रही: कांग्रेस

राजस्थान का संकट अब दूर होने की ओर है. सचिन पायलट (Sachin Pilot) के खेमे के विधायक अब जयपुर लौट रहे हैं. विधायक भंवर लाल शर्मा ने जयपुर पहुँचते ही सीएम अशोक गहलोत से मुलाक़ात की. इसके बाद भंवरलाल शर्मा ने कहा कि ‘मेरी सीएम गहलोत से मुलाक़ात हुई है. कांग्रेस पार्टी एक परिवार है. अशोक गहलोत इसके मुखिया हैं. कभी-कभी परिवार में झगड़ा हो जाता है. इसलिए मैंने अपनी बात जाहिर की थी. नाराजगी थी जो अब दूर हो गई है’ Also Read - बिहार चुनाव से पहले पुलिस मुख्यालय का अजीबोगरीब फरमान जारी, मचा सियासी बवाल

भंवरलाल शर्मा ने कहा कि गुड़गाँव में कोई कैंप नहीं था. न किसी ने बंधक बना कर रखा हुआ था. भंवर लाल को कभी बंधक नहीं बनाया जा सकता है. मैं अपनी मर्ज़ी से गया था और अपनी मर्ज़ी से वापस आ गया हूँ. Also Read - बीजेपी की पूर्व MLA पारुल साहू कांग्रेस में शामिल, मंत्री के खिलाफ लड़ सकती हैं चुनाव

बता दें कि सचिन पायलट ने आज राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से मुलाकात की है. इसके बाद सचिन पायलट की नाराजगी दूर हो गई लगती है. अशोक गहलोत सरकार पर छाया संकट अब दूर होने की ओर है.