जयपुर: राजस्थान में जारी राजनीतिक घटनाक्रम के बीच भारतीय जनता पार्टी के दर्जन भर विधायक गुजरात चले गए हैं. इनमें से छह विधायक शनिवार को चार्टर विमान से पोरबंदर के लिए रवाना हुए. हालांकि पार्टी के नेताओं ने अपने विधायकों को किसी एक जगह जगह रखकर ‘बाड़ेबंदी’ करने जैसी किसी स्थिति से इनकार किया है. इससे पहले भाजपा के 12 से अधिक विधायक शुक्रवार को गुजरात गए थे. Also Read - सुनवाई में 61 बार गैरमौजूद रहे हार्दिक पटेल नहीं जा सकेंगे गुजरात से बाहर, कोर्ट ने खारिज की अर्जी

हवाई अड्डे के अधिकारियों ने बताया कि छह यात्रियों को लेकर एक चार्टर विमान शनिवार को गुजरात में पोरबंदर के लिए रवाना हुआ. विमान में भाजपा विधायकों निर्मल कुमावत, गोपीचंद मीणा, जब्बार सिंह सांखला, धर्मेंद्र मोची और गुरदीप शाहपीनी के होने की सूचना है. भाजपा सूत्रों का कहना है कि सभी विधायक एक रिसॉर्ट में रुकेंगे और सोमनाथ मंदिर में दर्शन करेंगे. Also Read - अजित पवार ने जनसंघ संस्‍थापक दीनदयाल उपाध्याय को श्रद्धांजलि दी, बाद में ट्वीट हटाया

इन विधायकों को हवाईअड्डे तक छोड़ने आए विधायक अशोक लाहोटी ने कहा कि वे लोग अपनी मर्जी से तीर्थाटन पर जा रहे हैं. उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘पुलिस और प्रशासन भाजपा के कुछ विधायकों को परेशान कर रहा है… विधायक स्वेच्छा से तीर्थाटन पर गए हैं.’’ Also Read - महाराष्‍ट्र के गृह मंत्री ने बिहार के पूर्व DGP गुप्तेश्वर पांडे पर साधा निशाना, दिया ये बड़ा बयान

पार्टी सूत्रों के अनुसार भाजपा के दर्जन भर विधायक शुक्रवार को अहमदाबाद के पास एक रिसॉर्ट पहुंचे हैं. भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां ने इस बात की पुष्टि करते हुए कहा कि सभी विधायकों को जानकारी है कि जल्द ही विधायक दल की बैठक होने वाली है, और सभी उसमें शामिल होंगे. पूनियां के अनुसार बाड़ाबंदी का शब्द कांग्रेस के लिए ही उचित है. उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा के 12 लोग या कुछ लोग कहीं घूमने चले गए तो वह इतना बड़ा मुद्दा हो गया?’’

उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस पार्टी की मौजूदा सरकार के लोग सोशल मीडिया और अन्य मंचों पर भाजपा विधायकों के बारे में अफवाह और भ्रम फैलाने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन ‘‘हमारा विधायक दल पूरी तरह से एक है. हमारा किसी पर अविश्वास नहीं है सबलोग एकजुट हैं.’’

वहीं उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने कहा, ‘‘भाजपा के अगर पांच-दस विधायक साथ मिलकर कहीं घूमले चले गए हैं तो उसे बाड़ाबंदी की संज्ञा नहीं दी जा सकती.’’ भाजपा बाड़ाबंदी की संस्कृति से दूर रहने वाली पार्टी है उस पर ऐसे आरोप निराधार हैं. हालांकि, राठौड़ ने विधायकों के बाहर जाने की जानकारी होने से इनकार किया.

उल्लेखनीय है कि राजस्थान विधानसभा का सत्र 14 अगस्त से होना है. कांग्रेस के अशोक गहलोत खेमे के विधायक और सरकार का साथ देने वाले अन्य विधायक जैसलमेर के एक होटल में रुके हैं वहीं पार्टी से बागी हुए सचिन पायलट खेमे के 18 विधायकों के हरियाणा में होने की सूचना है.

वसुंधरा ने दिल्ली में डाला डेरा
इससे पहले राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा की वरिष्ठ नेता वसुंधरा राजे ने शुक्रवार को पार्टी अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा से भेंट की. वहीं शनिवार को दिल्ली में वरिष्ठ बीजेपी नेता राजनाथ सिंह से मुलाकात की.ऐसा माना जा रहा है कि दोनों के बीच राजस्थान के राजनीतिक हालात पर चर्चा हुई जहां कांग्रेस सरकार बागी विधायकों की नाराजगी का सामना करना पड़ रहा है. बैठक में दोनों के बीच क्या बातचीत हुई, इसपर आधिकारिक रूप से कोई सूचना नही दी गई है.

दोनों नेताओं के बीच यह बैठक इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि पिछले महीने से शुरू हुए राजनीतिक संकट के दौरान राजे जयपुर में हुई भाजपा की बैठकों से अलग रही हैं और उन्होंने पूरे घटनाक्रम पर चुप्पी साधे रखी है. सूत्रों ने बताया कि राजस्थान में विधानसभा सत्र आहूत होने से एक सप्ताह पहले हुई इस बैठक में पार्टी उपाध्यक्ष राजे ने नड्डा को अपने विचारों से अवगत कराया ओर राज्य में पार्टी के विकल्पों पर चर्चा की.

(इनपुट भाषा)