जयपुर: राजस्थान की राजनीतिक रस्साकशी के बीच कांग्रेस के बागी नेता सचिन पायलट खेमे के कुछ विधायकों ने शनिवार को इन आरोपों को गलत बताया कि उन्हें हरियाणा के एक होटल में बंधक बनाया हुआ है. इन विधायकों के अनुसार वे अपनी स्वेच्छा से पायलट के साथ हैं. Also Read - Rajasthan Lockdown Guidelines: राजस्थान में लॉकडाउन के दौरान किन-किन चीजों पर रहेंगी बंदिशें, शादियों के लिए क्या है गाइडलाइंस, जानें यहां...

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से नाराज होकर पायलट के साथ गए ऐसे तीन विधायकों ने अपने बयान के वीडियो जारी किए. मुख्यमंत्री गहलोत ने पायलट खेमे के विधायकों की ओर इशारा करते हुए सुबह संवाददाताओं से कहा था, ‘‘हमारे कुछ साथी जिनको बंधक बना रखा है हरियाणा के अंदर, उन्हें पूरा भाजपा की देखरेख में बंधक बनाया हुआ है. हो सकता है कि वे वहां से छूटना चाहते हों, हो सकता है कि बाउंसर लगा रखे हो वहां पर, पुलिस लगा रखी है.’’ Also Read - Complete Lockdown In Rajasthan: राजस्थान में 10 से 24 मई तक संपूर्ण लॉकडाउन, शादियों पर 31 मई तक पाबंदी, जानें ताजा अपडेट

इस पर विधायक सुरेश मोदी ने अपनी वीडियो में कहा, ‘‘मैं यह स्पष्ट करना चाहता हूं कि न हमें किसी ने बंधक बना रखा है, न हमारे पास बाउंसर बैठे हैं, न हम बीमार हैं और न हम आंसू बहा रहे हैं. न ही हम वहां आने के लिए तड़प रहे हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम अपनी स्वेच्छा से यहां हैं.’’

एक अन्य विधायक वेद प्रकाश सोलंकी वीडियो में कह रहे हैं, ‘‘ कुछ लोग जयपुर में बैठ हुए आरोप लगा रहे हैं कि हम तमाम विधायकों को बंधक बनाया हुआ है. मैं कहना चाहता हूं कि हम स्वेच्छा से आए हैं. इसमें किसी पार्टी विशेष ने किसी को बंधक नहीं बनाया, हम स्वेच्छा से आए हैं और स्वेच्छा से रुके हुए हैं.’’ इन विधायकों के वीडियो में कुछ और विधायक भी बैठे नजर आ रहे हैं. हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं है कि ये वीडियो कब और कहां बनायी गयी है.