जयपुर: राजस्थान में चल रहे सियासी घमासान के बीच अशोक गहलोत खेमे के 52 विधायक शुक्रवार दोपहर जयपुर से जैसलमेर पहुंचे. सूत्रों ने बताया कि जयपुर से जैसलमेर पहुंचे तीन चार्टर्ड विमान में कैबिनेट मंत्री हरीश चौधरी, साले मोहम्मद सहित 50 अन्य विधायक आए हैं. Also Read - Academic Session 2020-21: राजस्थान में इस सेशन से शुरू होंगे 37 नए कॉलेज, सीएम गहलोत पहले ही कर चुके थे घोषणा 

सभी विधायकों को जैसलमेर हवाई अड्डे से बसों के जरिए सूर्यगढ़ होटल ले जाया गया. विधायकों को छोड़ने के बाद चार्टर्ड विमान अन्य विधायकों और मंत्रियों को लिवाने जयपुर रवाना हो गये. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के विश्वसनीय माने जाने वाले पूर्व सांसद बद्री राम जाखड़ ने इन विधायकों आगवानी की. Also Read - हमें सिर्फ लोकतंत्र की परवाह है इसलिए राजस्थान में हो रहे 'तमाशे' बंद करवाएं पीएम मोदी: गहलोत

इससे पहले जयपुर में परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि सभी विधायक एकजुट रह सकें इसलिये उन्हें जैसलमेर ले जाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री की रणनीति है कि एक भी विधायक की खरीद-फरोख्त ना हो सके.

जैसलमेर रवानगी से पहले जयपुर हवाई अड्डे पर संवाददाताओं से बातचीत में कांग्रेस विधायक प्रशांत बैरवा ने कहा था कि सभी लोग एक ही जगह पर रुके-रुके थकान ही महसूस करने लगे हैं, ऐसे में हम जगह बदलने के लिए जैसलमेर जा रहे हैं.

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री गहलोत ने बृहस्पतिवार को दावा किया कि आगामी विधानसभा सत्र की तारीख तय होने के बाद राज्य में विधायकों की खरीद-फरोख्त का ‘रेट’ (कीमत) बढ़ गया है. इसके बाद ही विधायकों को जैसलमेर ले जाने का फैसला किया गया.