Rajasthan government news:  राजस्‍थान में सत्‍तारूढ़ कांग्रेस की अशोक गहलोत सरकार संकट के बीच आज सोमवार को कांग्रेस के पार्टी विधायकों की बैठक शुरू होने जा रही है. पार्टी का दावा है कि सीएम अशोक गहलोत की नेतृत्‍व वाली सरकार के प्रति 109 विधायकों ने एक पत्र लिखकर अपना भरोसा और समर्थन व्‍यक्‍त किया है और कुछ एमएलए ने सीएम से टेलिफोनिक संवाद किया है. कांग्रेस पार्टी के विधायकों की बैठक जयपुर में आज सुबह 10 बजे शुरू होने वाली है. Also Read - राजस्थान में खत्म हुआ राजनीतिक संकट! गहलोत सरकार ने जीता विश्वास मत; पायलट बोले- अटकलों पर विराम लगा

बता दें कि कांग्रेस नेता व डिप्‍टी सीएम सचिन पायलट और मुख्‍यमंत्री के बीच मतभेद चरम पर हैं. पायलट के विद्रोही तेवर के बीच कांग्रेस अपनी सरकार को पूर्ण समर्थन का दावा कर रही है. वहीं, पायलट ने अशोक गहलोत सरकार को अल्‍पमत बताया है. Also Read - Rajasthan Assembly Session: सीएम गहलोत ने जीता विश्वास मत, पायलट ने कहा-नहीं चला किसी का कोई जादू

कांग्रेस महासचिव और राजस्‍थान कांग्रेस के प्रभारी अविनाश पांडे ने कहा, 109 विधायकों ने सीएम अशोक गहलोत और सोनिया गांधी जी और राहुल गांधी जी के नेतृत्व में सरकार के प्रति विश्वास और समर्थन व्यक्त करते हुए एक पत्र पर हस्ताक्षर किए हैं. कुछ और विधायकों ने सीएम के साथ टेलीफोन पर बातचीत की थी और वे सुबह तक समर्थन पत्र पर हस्ताक्षर करेंगे. Also Read - विधानसभा में बदली सीट तो बोले सचिन पायलट- 'विपक्ष के पास इसलिए बिठाया गया क्योंकि बॉर्डर पर...'

राजस्थान कांग्रेस प्रभारी ने रविवार को रात में कहा कि, कल सुबह होने वाली कांग्रेस विधायक दल की बैठक में अनिवार्य रूप से उपस्थित होने के लिए सभी पार्टी विधायकों को एक व्हिप जारी किया गया है. व्यक्तिगत / विशेष कारण का उल्लेख किए बिना अनुपस्थित रहने वाले किसी भी विधायक के खिलाफ सख्त अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी.

बता दें कि रविवार को पार्टी से बगावत के संकेत देते हुए दावा किया कि उनके साथ तीस से अधिक विधायक हैं और अशोक गहलोत सरकार अल्पमत में आ चुकी है. पायलट के दावे के उलट कांग्रेस ने कहा है कि गहलोत सरकार पूरी तरह से सुरक्षित है और अपना कार्यकाल पूरा करेगी. पार्टी के मुताबिक, सोमवार को विधायक दल की बैठक में यह स्पष्ट हो जाएगा कि कांग्रेस की सरकार बहुमत में है.

प्रभारी महासचिव अविनाश पांडे ने रविवार को कहा कि राज्य में पार्टी के सभी विधायक उनके संपर्क में हैं और सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी. पांडे ने इस बात पर हैरानी भी जताई कि वो कौन विधायक हैं, जो कथित तौर पर उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के पक्ष में खड़े हैं.

कांग्रेस आलाकमान ने राजस्थान में इस संकट को टालने के मकसद से अपने वरिष्ठ नेताओं अजय माकन और रणदीप सुरजेवाला को केंद्रीय पर्यवेक्षक के तौर पर जयपुर पहुंच चुके हैं और वे आज की विधायकों की मीटिंग में मौजूद रहेंगे.