नई दिल्ली: कांग्रेस की राजस्थान इकाई के अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा है कि उन्हें पूरा भरोसा है कि चुनावों में पार्टी की जीत होगी और वह एक बार फिर साफा पहनेंगे. पायलट से जब बुधवार को पार्टी के लिए उनके संकल्प के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा,‘2014 में पार्टी की हार के बाद मैंने सौगंध ली थी कि जब तक कांग्रेस सत्ता में वापसी नहीं करेगी मैं साफा नहीं पहनूंगा. मैंने साफे से खुद को दूर करने का फैसला किया जो कि हमारी संस्कृति का एक प्रतीक है.

राजस्थान: नामांकन के बाद रैलियों में पीएम मोदी ने 499 और राहुल गांधी ने 185 मिनट दिया भाषण

पायलट ने कहा,‘मुझे पूरा भरोसा है कि जनता के आशीर्वाद से चुनावों में कांग्रेस की जीत सुनिश्चित होगी और मैं एक बार फिर साफा पहन पाऊंगा. राजस्थानी साफा राजस्थान में संस्कृति और परंपराओं का एक अभिन्न हिस्सा है. खासकर चुनाव प्रचार में तो हर पार्टी का हर नेता साफा पहनता है लेकिन प्रचार अभियान के दौरान जब भी लोग और उनके समर्थक पायलट को स्वागत के रूप में साफा भेंट करते तो वह उसे माथे से लगाकर रख देते. पायलट प्रचार के आखिरी दिन टोंक विधानसभा क्षेत्र में प्रचार कर रहे थे जहां उनका मुकाबला भाजपा के यूनुस खान से है.

राजस्थान में थमा प्रचार: 130 सीटों पर सीधा मुकाबला, 45 सीटों को बागियों ने बनाया रोचक

उन्होंने जनवरी 2014 में प्रदेशाध्यक्ष का पद्भार संभाला था जबकि 2013 के विधानसभा चुनाव और 2014 के लोकसभा चुनाव में पार्टी राज्य में बुरी तरह हार गई थी. सचिन पायलट ने बुधवार को विश्वास जताया कि उनकी पार्टी राजस्थान में पर्याप्त बहुमत से सरकार बना लेगी. उन्होंने दावा किया कि लोग भाजपा सरकार के कुशासन से परेशान हैं.

सोशल मीडिया पर भी चुनावी जंग, कांग्रेस ने चलाया ’45 समाधान, विजयी भव राजस्थान’ अभियान

टोंक कस्बे में संवाददाताओं से बातचीत में पायलट ने कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि उनकी पार्टी पर्याप्त बहुमत के साथ सरकार बनायेगी. उन्होंने कहा कि इस तरह की सूचना है कि भाजपा 50 सीटों के आंकडे़ को भी पार नहीं कर पायेगी.उन्होंने कहा कि लोग भाजपा के कुशासन से परेशान हैं और बदलाव चाहते हैं.टोंक से राजस्थान के यातायात मंत्री यूनुस खान भाजपा प्रत्याशी हैं.

VIDEO: राजस्थान में पीएम मोदी ने बजाया ‘चुनावी नगाड़ा’, प्रचार के आखिरी दिन इस अंदाज में आए नजर

भाजपा को आड़े हाथों लेते हुए कहा है कि भाजपा को जनता की याद चुनाव के समय आती है. उन्होंने कहा कि जब प्रदेश पांच साल अकाल से जूझ रहा था, बलात्कार और एनकाउंटर हो रहे थे, तब तो सरकार ने जनता की सुध नहीं ली और अब चुनाव आते ही उन्हें जनता की याद आ रही है. क्षेत्र की आधी से ज्यादा विधानसभा सीटों के नाम लेकर उन्होंने कहा कि सब जगह कांग्रेस का माहौल है. इससे साफ लग रहा है कि सरकार कांग्रेस की ही बनेगी. उन्होंने दावा किया कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनेगी क्योंकि राजस्थान में जनता भाजपा से परेशान हो चुकी है और जनता सरकार बदलने का पूरा मानस बना चुकी है.

(इनपुट-भाषा)