जयपुर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कहा कि वह कोई सोने की चम्मच लेकर पैदा नहीं हुए और यह (चुनाव) तो एक ‘कामदार’ की एक ‘नामदार’ के खिलाफ लड़ाई है. बता दें कि राजस्थान में 7 दिसंबर को मतदान होना है. परिणाम 11 दिसंबर को आएंगे. यहां 200 सीटों पर मतदान होगा. राज्य में भारतीय जनता पार्टी की सरकार है. बीजेपी फिर से सरकार बनाने के लिए पूरी ताकत झोंक रही है. यही वजह है कि यहां पीएम मोदी कई जनसभाएं कर रहे हैं.

Rajasthan Election: चुनावी चटखारों से कहीं ज्यादा ‘टेस्टी’ बीकानेरी भुजिया की कहानी

नागौर में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा भाजपा की सरकार चाहे केन्द्र में हो या राजस्थान में, हम लोगों का एक ही मंत्र रहता है ‘सबका साथ, सबका विकास’. यह मंत्र ज्योतिबा फूले और बीआर आंबेडकर की प्रेरणा से मिला है. यह मंत्र हिन्दुस्तान की महक को लेकर आया हुआ है. मोदी ने कहा कि शौर्य और श्रम की धरती पर आज एक ‘कामगार’ ‘नामदार’ के खिलाफ लड़ाई के लिए मैदान में है. उन्होंने कहा, ‘मैं आपसे अलग नहीं… जो जिंदगी आप गुजारते है वहीं जिंदगी मैंने गुजारी है. जिस जिदंगी को आप जी रहे हैं, वहीं जिंदगी मैं जी रहा हूं. ना आप सोने की चम्मच लेकर पैदा हुए हैं ना मैं सोने की चम्मच लेकर पैदा हुआ.’

Rajasthan Assembly Election 2018: राज्य की 200 विधानसभा सीटों के मुकाबले 2,294 उम्मीदवार मैदान में

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘ना आपके माता-पिता, दादा-दादी कभी राज करते थे, ना मेरे दादा दादी राज करते थे, पहली बार एक कामदार आपसे आशीर्वाद मांगने आया है.’ उन्होंने कहा कि जो मूंग और मसूर में फर्क नहीं समझते हैं वे आज देश के किसान को किसानी समझाने के लिये घूम रहे हैं. मोदी ने कहा, ‘जो धरती से कटे हुए हैं, जन-जन से जिनका चार-चार पीढ़ी का भी नाता नहीं रहा है, ये लोग कभी आपके दुखों को समझ नहीं सकते हैं और आपके दुखों को कभी दूर नहीं कर सकते.

विधानसभा चुनावों पर विस्तृत कवरेज के लिए क्लिक करें