नई दिल्ली: टोंक के पूर्ववर्ती नवाब परिवार ने उनके क्षेत्र से विधानसभा चुनाव लड़ रहे कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट को समर्थन देने कीस्पष्ट घोषणा की है. नवाब परिवार के मुखिया आफताब अली खान ने इस बारे में नवाबी खानदान के लिए एक खुली घोषणा जारी की है. इसमें उन्होंने नवाब खानदान के मतदाताओं से पायलट के लिए मतदान करने को कहा है. टोंक का नवाब परिवार आमतौर पर राजनीति से दूर रहता है और एक दावे के अनुसार टोंक के नवाबी खानदान में लगभग 8,500 पंजीबद्ध सदस्य हैं. पायलट के प्रत्याशी बनने से टोंक राज्य की सबसे चर्चित विधानसभा सीटों में से एक हो गई है. Also Read - 47th G7 Summit: पीएम मोदी ने 47वें जी-7 शिखर सम्मेलन के आउटरीच सत्र को किया संबोधित, दिया 'वन अर्थ, वन हेल्थ' का मंत्र

Also Read - क्या अब JDU भी है मोदी सरकार से बगावत को तैयार! नीतीश कुमार की पार्टी के नेता ने दिए संकेत

मध्य प्रदेश के बाद राजस्थान, सट्टा बाजार में जीत रही है कांग्रेस, मिल रही हैं इतनी सीटें Also Read - प्रशांत किशोर-शरद पवार के बीच तीन घंटे तक क्‍यों हुई मीटिंग? NCP के मंत्री ने दिया ये जवाब

भाजपा ने यहां पायलट के सामने परिवहन मंत्री युनुस खान को उतारा है जो कि भाजपा की ओर से चुनावी समर में उतरने वाले एक मात्र मुस्लिम प्रत्याशी हैं. खान ने कहा, ‘भविष्य युवाओं का है इसलिए मेरा मेरे परिवार व खानदान के सदस्यों के लिए खुली घोषणा है कि हम पायलट के साथ हैं. जनता किसी भी नेता से अधिक सयानी है और वह टोंक की दिक्कतों व मुद्दों को भली भांति समझती है. पायलट अजमेर से सांसद रहे हैं और वह टोंक को अच्छी तरह समझते हैं. खान अंजुमन खानदान ए अमीरिया टोंक के सरपरस्त भी हैं. उन्होंने कहा, ‘टोंक में कोई उद्योग नहीं है. शिक्षा की कमी है. मुझे लगता है कि इन समस्याओं को दूर करने के लिए पायलट ही सबसे उचित प्रत्याशी हैं. यह अंजुमन या सोसायटी टोंक नवाब खानदान की आधिकारिक इकाई है. टोंक मुस्लिम बहुल सीट है.

राजस्‍थान विधानसभा चुनाव: अमित शाह बोले, राम मंदिर के लिए कटिबद्ध है बीजेपी

विधानसभा चुनाव में सबसे चर्चित सीट बनी टोंक में कांग्रेस ने जैसे ही सचिन पायलट को उतारने की घोषणा की, भाजपा ने अपनी रणनीति में बदलाव करते हुए अजित सिंह मेहता की जगह यूनुस खान को उतार दिया. इसे झालरापाटन में कांग्रेस के उस मास्टरस्ट्रोक का बदला माना जा रहा है जो उसने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के खिलाफ भाजपा के ही वरिष्ठ नेता जसवंत सिंह के बेटे मानवेंद्र सिंह को उतारकर चला.

राजस्थान कांग्रेस में पहले 2 सीएम फेस थे, अब 5 हो गए हैं’

कांग्रेस ने इस बार टोंक से मुस्लिम की जगह हिंदू प्रत्याशी को उतारा है. एक अनुमान के अनुसार कुल 2.20 लाख मतदाताओं में से 70,000 मुस्लिम मतदाता हैं. 2013 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की प्रत्याशी जकिया की जमानत जब्त हो गयी थी और वह तीसरे स्थान पर रही थीं. ऐसा माना जाता है कि कांग्रेस पूर्वी राजस्थान के समूचे इलाके में एक संदेश देने के लिए पायलट को यहां लाई है. पायलट राज्य में पार्टी के मुख्यमंत्री पद के दावेदारों में से एक हैं. पायलट ने कहा, ‘टोंक मेरे लिए चुनाव लड़ने के हिसाब से अच्छी सीट है क्योंकि यह अजमेर व दौसा के पास है. मुझे 13-14 जिलों से चुनाव लड़ने का आग्रह मिला था और पार्टी ने टोंक का फैसला किया. हम विशेषकर पूर्वी राजस्थान सहित समूचे राजस्थान में बड़ी संख्या में सीटें जीतेंगे.

(इनपुट-भाषा)