जयपुर: राजस्थान में जीत का परचम लहराने वाली कांग्रेस को कुल 1,39,35, 201 वोट मिले, जबकि भाजपा को 1,37,57,502 वोट मिले हैं. ऐसे में केवल 1.70 लाख से कुछ ज्यादा वोटों के अंतर से भाजपा इस राज्य में सत्ता से बाहर हो गई. राज्य विधानसभा के 199 निर्वाचन क्षेत्रों में कांग्रेस को 39.3 फीसदी वोट मिले और भारतीय जनता पार्टी को 38.8 फीसदी वोट मिले. बहुत ही कम अंतर से मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को अपनी कुर्सी गंवानी पड़ी.Also Read - Rajasthan News: भाजपा सांसद किरोड़ी लाल मीणा गिरफ्तार, सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा वीडियो, जानिए वजह

Also Read - यूपी के मंत्री ने कहा- कांग्रेस ने भ्रम फैलाकर पाया वोट, पछता रहे हैं मध्यप्रदेश के लोग

राजस्थान के मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनंद कुमार ने बुधवार को कहा कि 4,67,781 लाख वोट नोटा (नन ऑफ द एबव) में पड़े, जो कुल वोटों का 1.3 फीसदी है. निर्दलीयों को 9.5 फीसदी वोट (33,72,206) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) को चार फीसदी (14,10,995 मत) वोट मिले. Also Read - एमएनएफ के प्रमुख जोरमथंगा ने ली मिजोरम के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ

Rajasthan Assembly Election 2018: इस चुनावी मुकाबले में हारकर भी भाजपा के लिए ‘मैन ऑफ द मैच’ रहीं वसुंधरा राजे

राज्य की चुनावी जंग में मुकाबला कितना नजदीकी था, उसका पता इससे भी चलता है कि कम से कम 10 सीटों पर जीत का अंतर हजार मतों से भी कम का रहा. इन 10 सीटों में सबसे कम जीत का अंतर 154 वोटों का रहा. निर्वाचन आयोग के मुताबिक, भीलवाड़ा जिले में असिंद सीट से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रत्याशी जब्बर सिंह सांखला ने महज 154 वोटों के मामूली अंतर से अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस के मनीष मेवाड़ा से सीट छीन ली. सांखला को 70,249 वोट मिले, जबकि मेवाड़ा को 70,095 वोट हासिल हुए.

Rajasthan Assembly election 2018: यूनुस खान की हार के साथ भाजपा विधायक दल के पास नहीं बचा कोई मुस्लिम चेहरा

मारवाड़ निर्वाचन क्षेत्र से निर्दलीय उम्मीदवार खुशवीर सिंह ने भाजपा के केसराम चौधरी को 251 मतों के अंतर से हराया. सिंह को 58,921 वोट मिले, तो चौधरी को 58,670 मतों से संतोष करना पड़ा. पीलीबंगा (एससी) सीट से भाजपा के धर्मेंद्र कुमार भी किस्मत वाले रहे और उन्होंने कांग्रेस के विनोद कुमार को 278 वोटों से शिकस्त दी. यहां और भी छह अन्य नेता हैं, जिनकी जीत का अंतर हजार वोटों से भी कम रहा है.

राजस्थान: कांग्रेस ने पेश किया सरकार बनाने का दावा, सीएम पर गुरुवार को फैसला लेंगे राहुल

राजस्थान में सात दिसंबर को कुल 74.69 फीसदी मतदान दर्ज किया गया था. आंकड़ों से पता चलता है कि निर्दलीयों और बसपा ने कांग्रेस व भाजपा का खेल बिगाड़ने का काम किया. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी को 0.2 फीसदी वोट मिले और इतने ही समाजवादी पार्टी को मिले. राज्य में कांग्रेस सरकार बनाने की तैयारी कर रही है.