जयपुर: विधानसभा चुनावों में मिली जीत के बाद कांग्रेस पार्टी ने बुधवार शाम राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का औपचारिक दावा पेश किया. इससे पहले पार्टी के नवनिर्वाचित विधायकों की बैठक जयपुर में हुई. बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को राज्य के नए मुख्यमंत्री के नाम का फैसला करने का अधिकार दिया. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक राहुल गुरुवार को अशोक गहलोत या सचिन पायलट में से किसी एक नाम की घोषणा कर सकते हैं. Also Read - Rajasthan Assembly Session: सीएम गहलोत ने जीता विश्वास मत, पायलट ने कहा-नहीं चला किसी का कोई जादू

बुधवार शाम कांग्रेस नेताओं का प्रतिनिधिमंडल राज्यपाल कल्याण सिंह से मिला. प्रतिनिधिमंडल में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट, महासचिव अशोक गहलोत और अन्य वरिष्ठ नेता शामिल थे. खबरों के मुताबिक पार्टी नेताओं ने चुनावी नतीजों के बाद कांग्रेस के पक्ष में बहुमत का दावा करते हुए सरकार बनाने का दावा पेश किया. राज्यपाल से मिलने के बाद पार्टी नेता अविनाश पांडे ने बताया कि हमने सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया है. पार्टी के विधायक दल का नेता चुने जाने पर राज्यपाल को इसकी औपचारिक सूचना देंगे.

पांडे ने यह भी बताया कि राज्य कांग्रेस के नेताओं ने गुरुवार को राहुल गांधी से मिलने का समय मांगा है. उन्हें आज हुई घटनाक्रम की जानकारी देने के अलावा नए नेता के चयन पर भी अंतिम फैसला करना है. बुधवार को पार्टी विधायक दल की बैठक में नए नेता के नाम पर सहमति नहीं बन सकी. अशोक गहलोत और सचिन पायलट राज्य के नए मुख्यमंत्री बनने के प्रबल दावेदार हैं. पार्टी विधायकों ने इस मुद्दे पर अंतिम फैसला लेने का अधिकार राहुल गांधी को दिया था. राहुल ने अशोक गहलोत और सचिन पायलट को गुरुवार को दिल्ली बुलाया है. संभावना है कि राहुल उनसे मिलने के बाद नए मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा करेंगे.

कांग्रेस ने राजस्थान में सत्तारूढ भाजपा को शिकस्त दी है. यहां वह 99 सीटों पर जीत के साथ बहुमत के जादुई आंकड़े के लगभग पास पहुंची है और सरकार बनाने की तैयारी में है. वहीं पार्टी की हार के बाद मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने अपना इस्तीफा मंगलवार रात राज्यपाल कल्याण सिंह को सौंप दिया था.