हनुमानगढ़ (राजस्थान): सिखों के प्रमुख धर्मस्थल करतारपुर साहिब को लेकर कांग्रेस पर प्रहार करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि विभाजन के समय अगर कांग्रेस नेताओं ने थोड़ी समझदारी दिखाई होती तो हमारा करतारपुर हमसे अलग नहीं होता. मोदी ने कहा कि कांग्रेस की हर बड़ी गलती को ठीक करने का काम उनके नसीब में आया है. इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने किसानों की मुसीबतों के लिए पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार की नीतियों को जिम्मेदार ठहराया. राजस्थान के नखलिस्तान कहे जाने वाले इस इलाके में दिन की अपनी पहली चुनावी रैली को संबोधित कर रहे मोदी ने भाषण की शुरुआत में ही करतारपुर साहिब के मुद्दे को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा. Also Read - Metro in Agra: पीएम मोदी सात दिसंबर को आगरा मेट्रो का करेंगे शिलान्यास, सीएम योगी भी रहेंगे मौजूद

Also Read - वैक्सीनेशन को लेकर कांग्रेस ने उठाए सवाल, अधीर रंजन बोले- आम जनता के टीकाकरण के लिए कोई रोडमैप नहीं

राजस्थान चुनाव: कांग्रेस की मदद कर रही है ‘भीम सेना’, चला रही ‘डोर टू डोर’ कैंपेन Also Read - Corona Vaccine को लेकर PM मोदी ने दिया बड़ा बयान-अब बस कुछ ही हफ्तों का है इंतजार....

हनुमानगढ़ और गंगानगर जिले में बड़ी संख्या में सिख मतदाता हैं. मोदी ने कहा ‘1947 में देश आजाद हुआ. भारत के विभाजन के समय राजगद्दी पर बैठने की जल्दबाजी में कांग्रेस नेतृत्व और कांग्रेस वालों ने गलतियां कीं.’ उन्होंने कहा, ‘‘विभाजन के समय अगर कांग्रेस नेताओं में इस बात की थोड़ी भी समझदारी, संवेदनशीलता और गंभीरता होती कि हिन्दुस्तान के जीवन में गुरुनानक देव का स्थान क्या है तो तीन किलोमीटर की दूरी पर स्थित हमारा करतारपुर हमसे अलग नहीं होता.’ उन्होंने कहा, ‘सत्ता के मोह को हम समझ सकते हैं लेकिन सत्ता के मोह में संतुलन भी खो जाए, यह समझ से परे है. राजगद्दी के मोह में कांग्रेस ने जो गलतियां कीं उसका खामियाजा आज हमें भुगतना पड़ रहा है.’

अमित शाह का तंज, राजस्थान की जनता को अपने सेनापति का नाम क्यों नहीं बता रहे राहुल गांधी

प्रधानमंत्री ने आगे कहा, ‘कांग्रेस की हर बड़ी गलती को ठीक करने का काम मेरे नसीब में आया है और मेरा नसीब मेरी हाथ की लकीरों में नहीं, बल्कि सवा सौ करोड़ देशवासियों के हाथ में है.’ मोदी ने सवाल किया, ‘‘क्यों कांग्रेस को 1947 में याद नहीं आया कि करतारपुर हिन्दुस्तान में होना चाहिए? आज अगर करतारपुर कॉरिडोर बन रहा है तो इसका श्रेय मोदी को नहीं बल्कि देश की जनता के वोट को जाता है.’ मोदी ने किसान के मुद्दों पर कांग्रेस नेताओं पर तंज करते हुए कहा कि जिन्हें हरी मिर्च और लाल मिर्च में फर्क पता नहीं वे हमें किसानों की भाषा बता रहे हैं. प्रधानमंत्री ने कहा, ‘एक ही परिवार की चार पीढ़ियों ने… जिनको न खेत की समझ है न किसान की समझ है, ऐसी नीति बनाई कि मेरे देश का किसान बर्बाद हो गया.’

राजस्थान चुनाव: इस गांव के लोगों ने वोट ने देने का किया ऐलान, सभी नेताओं से हैं नाराज

उन्होंने दोहराया ‘देश के किसानों की मुसीबत कांग्रेस के 70 साल के पापों का परिणाम है. अगर देश के पहले प्रधानमंत्री एक किसान के बेटे सरदार वल्लभ भाई पटेल बने होते तो देश के किसानों की यह दशा कतई नहीं होती.’ मोदी ने कहा कि कर्नाटक में किसानों को कर्जमाफी का वादा करने के बावजूद कांग्रेस हार गयी और उसने पिछले दरवाजे से देवेगौड़ा के साथ हाथ मिलाकर सरकार बनाई. प्रधानमंत्री ने कहा कि पांच साल पहले अखबार कोयला घोटाला, 2जी घोटाला, पनडुब्बी घोटाला जैसी खबरों से भरे रहते थे लेकिन ‘आज सरकार बने इतने साल हो गए, अब ऐसी खबरें नहीं आतीं क्योंकि देश के पैसों की लूट बंद हो गई.’

राजस्थान चुनाव: ‘जाटलैंड’ में बीजेपी के संकटमोचक हो सकते हैं ‘हनुमान’

मोदी ने विश्वास जताया कि राजस्थान में भाजपा एक बार फिर सरकार बनाने जा रही है. उन्होंने कहा, ‘कोई दुविधा नहीं है, भाजपा की जीत निश्चित है. आपने ऐसे व्यक्ति को वोट देकर प्रधानमंत्री बनाया है जो जीता है सिर्फ आपके लिए, जो जागता है सिर्फ आपके लिए, जो जूझता है तो सिर्फ आपके लिए, अगर वो झुकता भी है तो सिर्फ और सिर्फ आपके लिए.’ अपने भाषण में मोदी ने भारतीय नौसेना का दिवस का जिक्र करते हुए कहा कि वे वीरों की धरती से नौसेना को अनेक-अनेक शुभकामनाएं देते हैं. उन्होंने कहा, ‘विराट समंदर में शौर्य और साहस का प्रतीक बनी हमारी नौसेना हमारे देश की आन-बान और शान है.’