जयपुर: राजस्थान में जारी राजनीतिक उठा पटक के बीच मुख्यमंत्री निवास पर हुई कांग्रेस विधायक दल की बैठक सोमवार दोपहर खत्म हो गई. बैठक खत्म होने के बाद कांग्रेस ने अपने विधायकों को होटल भेज दिया है. इस बैठक में कांग्रेस के साथ साथ उसके सहयोगी दलों के विधायक भी शामिल हुए थे. इन सभी विधायकों को बस में बिठाकर होटल भेजा गया है. सोमवार दोपहर करीब साढ़े तीन बजे कांग्रेस विधायक दल (सीएलपी) की बैठक संपन्न होने के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आवास से ये बसें विधायकों को लेकर चली गईं. इस दौरान एक विधायक ने कहा कि “सब ठीक है.” Also Read - अशोक गहलोत ने कांग्रेस विधायकों को क्यों दिलाई अटल बिहारी वाजपेयी की याद, लिखा ये पत्र

इससे पहले कांग्रेस विधायक दल ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के समर्थन में प्रस्ताव पारित किया. इस प्रस्ताव में सोनिया गांधी व राहुल गांधी के नेतृत्व में विश्वास जताया गया है. वहीं कांग्रेस विधायक दल ने पार्टी को कमजोर करने वाले कार्यों की निंदा की. प्रस्ताव में मांग की गयी है कि इस तरह की कार्रवाई में शामिल पदाधिकारियों एवं विधायकों के खिलाफ कड़ी अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाए. Also Read - राजस्थान: पाकिस्तान से आए हिंदू शरणार्थी परिवार के 11 सदस्य मृत मिले, वजह का पता नहीं

Image Also Read - राजस्थान की राजनीति में नया मोड़! भाजपा ने ‘तीर्थाटन’ पर गुजरात भेजे कुछ विधायक, वसुंधरा ने दिल्ली में डाला डेरा

बता दें कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट द्वारा बगावती तेवर अपनाए जाने से उपजे संकट के बीच यह बैठक सुबह साढे़ दस बजे शुरू होनी थी लेकिन दोपहर लगभग डेढ़ बजे यह शुरू हुई थी. बैठक शुरू होने से पहले मीडिया को वहां मौजूद विधायकों व नेताओं की फोटो लेने की अनुमति दी गयी. वहां मौजूद विधायकों की संख्या के बारे में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सीधा कोई जवाब नहीं दिया. हालांकि पार्टी के एक नेता ने दावा किया कि कुल 106 विधायक मौजूद हैं जबकि दो विधायक रास्ते में हैं.

राजस्थान के उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के यह दावा करने के एक दिन बाद कि राज्य में अशोक गहलोत सरकार कुछ विधायकों के उनके साथ जाने के बाद अल्पमत सरकार में बदल गई है, मुख्यमंत्री गहलोत ने सोमवार को विधायक दल की बैठक में ताकत दिखाई और मीडिया के सामने लगभग 100 विधायकों का समर्थन होने का दावा किया. गहलोत ने मीडिया के सामने सभी विधायकों की परेड करवाई. कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने मीडिया को स्पष्ट रूप से कहा, “कांग्रेस पार्टी में व्यक्तिगत महत्वाकांक्षा के लिए कोई गुंजाइश नहीं है.”

Image

बैठक में कांग्रेस के साथ साथ बीटीपी के दो, माकपा के एक, आरएलडी के एक विधायक तथा कांग्रेस का समर्थन कर रहे निर्दलीय विधायक भी मौजूद थे. इसके साथ ही दिल्ली से आए कांग्रेस के महासचिव के सी वेणुगोपाल, पार्टी के प्रदेश प्रभारी अनिवाश पांडे व राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला भी बैठक में रहे.