नई दिल्‍ली: राजस्‍थान के मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत ने आज अपने आवास में बुलाई विधायक दल की मीटिंग में अपनी सरकार के बहुमत का दावा किया है. सीएम के आवास पर इकट्ठा हुए मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत, कांग्रेस के नेता और पार्टी के विधायक विक्‍ट्री का साइन दिखाते हुए दिखाई दिए. Also Read - आज खत्म हो रहा सोनिया गांधी का कार्यकाल, अब कौन बनेगा कांग्रेस अध्यक्ष? पार्टी ने बताया आगे का प्लान

वहीं, कांग्रेस की विधायक दल के पहले सचिन पायलट के समर्थकों का दावा किया था कि 25 विधायक उनके साथ हैं. जबकि गहलोत ने दावा है कि उनके पास बहुमत हैं. ऐसे में सवाल है कि क्‍या अशोक गहलोत सरकार पर संकट टल गया है. Also Read - राजस्थान में 52 हज़ार पार हुई संक्रमितों की संख्या, बुरा है इन इलाकों का हाल

मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत के आवास में बुलाई गई विधायक दल की मीटिंग पहले 10 बजे शुरू होना थी, लेकिन यह 12 बजे के बाद शुरू हो पाई. विधायक दल की मीटिंग शुरू होने से पहले कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने सोमवार को कहा कि राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार के पास पूर्ण बहुमत है और वह अपना पांच साल का कार्यकाल पूरा करेगी.

जयपुर में कांग्रेस विधायक दल की महत्वपूर्ण बैठक से पहले संवाददाताओं से बातचीत में सुरजेवाला ने कहा,’ गहलोत सरकार स्थिर है, उसके पास पूर्ण बहुमत है और वह पांच साल का अपना कार्यकाल पूरा करेगी.’ कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के बगावती तेवरों के बारे में सुरजेवाला ने कहा कि बीते 48 घंटे में कांग्रेस नेतृत्व की पायलट से कई बार बात हुई है. उन्होंने कहा कि अगर किसी का किसी से कोई मतभेद है तो उसे पार्टी के मंच पर उठाया जा सकता है और … कांग्रेस के दरवाजे हमेशा खुले रहेंगे. वहीं जयपुर पहुंचे कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने हवाई अड्डे पर कहा कि गहलोत सरकार
को कुछ नहीं होगा. वेणुगोपाल ने कहा,’ कुछ नहीं होगा. सरकार काम करती रहेगी. ‘