Lockdwon in Rajasthan? कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या में फिर से हो रही वृद्धि के मद्देनजर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार को राज्य के लोगों का आगह करते हुए कहा कि वे कोविड-19 प्रोटोकॉल का ध्यान से पालन करें, क्योंकि ऐसा नहीं होने पर सरकार को सख्ती बरतनी पड़ेगी. इस बीच राज्य सरकार ने और चार राज्यों से राजस्थान आने वाले लोगों के लिए कोरोना वायरस जांच रिपोर्ट दिखाना अनिवार्य कर दिया है. Also Read - उत्तर प्रदेश में कोरोना से एक दिन में सबसे ज्यादा 120 लोगों की मौत, 27,357 नए मामले सामने आए

राज्य में शनिवार को भी संक्रमण के 200 से ज्यादा (233) नए मामले सामने आए हैं. अभी तक कुल 3,21,356 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. इसका जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री गहलोत ने ट्वीट किया, ‘‘मार्च की शुरुआत से राज्य में कोविड-19 के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. पिछले महीने प्रतिदिन 100 से भी कम मामले आ रहे थे, लेकिन अब यह संख्या रोजाना 200 से अधिक पहुंच गई है.’’ Also Read - भारत में विकराल रूप ले रहा कोरोना, आज रात मंत्रियों और अफसरों के साथ अहम बैठक करेंगे पीएम मोदी

गहलोत ने कहा, ‘‘आमजन से अपील है कि प्रोटोकॉल का पूर्ववत पालन करें अन्यथा सरकार को पहले की तरह सख्ती बरतनी पड़ेगी.’’ इस बीच राज्य सरकार ने और चार राज्यों पंजाब, हरियाणा, मध्य प्रदेश और गुजरात से आने वालों के लिए भी अधिकतम 72 घंटे पुरानी कोरोना वायरस संक्रमण की आरटीपीसीआर जांच की नेगेटिव रिपोर्ट दिखाना अनिवार्य कर दिया है. Also Read - दिल्ली सरकार ने बेहतर कोविड प्रबंधन के लिए प्राइवेट अस्पतालों में तैनात किए नौकरशाह

प्रमुख शासन सचिव अभय कुमार ने शनिवार को इस आशय का आदेश जारी किया. राज्य सरकार इससे पहले केरल और महाराष्ट्र से राजस्थान आने वाले लोगों के लिए यह अनिवार्यता लागू की थी.

(इनपुट भाषा)