नई दिल्ली: राजस्थान के शीर्ष पुलिस अधिकारी और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत प्रशासन में विश्वासपात्र अधिकारी अनिल
पालीवाल का गहलोत के सहयोगियों के साथ व्यापारिक हित का पता लगा है. आईएएनएस द्वारा देखे गए दस्तावेज से यह
जानकारी मिली. राजस्थान में जिस तरह से राजनीतिक संकट गहरा रहा है, यह आरोप हैं कि गहलोत राजस्थान में विपक्षी को
निशाना बनाने के लिए राजनीति से प्रेरित और भ्रष्ट नौकरशाह का प्रयोग कर रहे हैं. Also Read - आज खत्म हो रहा सोनिया गांधी का कार्यकाल, अब कौन बनेगा कांग्रेस अध्यक्ष? पार्टी ने बताया आगे का प्लान

राजस्थान स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) को राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों को काफी सक्रिय रूप से निशाना बनाते हुए देखा गया
है. एसओजी ने कांग्रेस के बागी नेता सचिन पायलट को नोटिस दिया था. पालीवाल तब एसओजी के प्रभारी एडीजी थे. Also Read - जम्मू-कश्मीर में नेताओं पर बढ़े हमले पाकिस्तान की हताशा: भाजपा

पालीवाल वही अधिकारी हैं, जिन्होंने केंद्रीय मंत्री गजेंद्र शेखावत को फंसाने के लिए संजीवनी को-ओपरेटिव सोसायटी के खिलाफ
एफआईआर दर्ज करवाई है. अब यह जानकारी सामने आ रही है कि पालीवाल और उसके परिवार के गहलोत व उसके
सहयोगियों के साथ कई व्यापारिक साझेदारी है. Also Read - 'जस्टिस फॉर सुशांत' का बिहार चुनाव पर होगा असर, जानें राजपूत समुदाय से कैसे होगा पार्टियों को फायदा

आईएएनएस द्वारा देखे गए दस्तावेज से पता चलता है कि पालीवाल की पत्नी सारिका अनिल पालीवाल, ट्रिटोन होटल्स एंड
रिसॉर्ट्स में रतनकांत शर्मा के साथ प्रमोटर हैं, जिसके अंतर्गत फेयरमाउंट होटल है. एक इंसाइडर के अनुसार, रतनकांत शर्मा
वैभव गहलोत के व्यापारिक साझेदार के रूप में जाने जाते हैं. वैभव गहलोत मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे हैं. पालीवाल की
पत्नी गोल्डन पीस रिसॉर्ट्स और मयंक शर्मा इंटरप्राइजेज की भी प्रमोटर है.

गहलोत परिवार के व्यापारिक हितों की जटिलता इस तरह बुनी हुई है कि मयंक शर्मा इंटरप्राइजेज के शेयरधारक ट्रिटोन
होटल्स एंड रिसॉर्ट्स के भी शेयरधारक हैं. आईएएनएस द्वारा देखे गए आरओसी दस्तावेजों के अनुसार, सारिका पालीवाल,
रतनकांत शर्मा और ट्रिटोन होटल्स एंड रिसॉट्स के अन्य प्रमोटरों का पता भी 103 शांतिवन, 2ए, रहेजा टॉउनशिप मलाड(ई)
है.

सारिका पालीवाल, ट्रिटोन होटल्स एंड रिसार्ट्स के मयंक शर्मा व पीएल कमलेश के साथ प्रमोटर शेयरहोल्डर्स है, जिसे मुंबई में
14 मार्च 2007 को निगमित किया गया था.

सारिका पालीवाल के पास ट्रिटोन के 7500 शेयरों में से 3500 शेयर है. बाद में 3500 शेयर रतनकांत शर्मा और उसकी पत्नी
जूही शर्मा को ट्रांसफर कर दिए गए, जोकि अब ट्रिटोन होटल्स के 50 प्रतिशत शेयरधारक हैं.

सारिका पालीवाल गोल्डन पीस रिसॉर्ट्स एंड होटल्स और मयंक शर्मा इंटरप्राइजेज की शेयरधारक और निदेशक हैं और
रतनकांत शर्मा की करीबी व्यापारिक सहयोगी है, जिसे वैभव गहलोत का पार्टनर बताया जा रहा है.

सारिका पालीवाल के पास फिलहाल मयंक शर्मा इंटरप्राइजेज का 11 प्रतिशत शेयर है, जो जयपुर में फाइव स्टार होटल ली
मेरिडियन का स्वामित्व अपने पास रखता है. ट्रिटॉन रिसार्ट्स के शेयरधारक मयंक शर्मा इंटरप्राइजेज के भी शेयरधारक हैं,
इसलिए सामान्य व्यापारिक हित स्थापित होता है.