जयपुरः राजस्थान के अजमेर जिले के ब्यावर कस्बे में शुक्रवार रात में एक विवाह कार्यक्रम के दौरान रसोई गैस सिलेंडर के फटने से ध्वस्त मकान के मलबे में दबे दस और शवों को रविवार को बहार निकाला गया, जिससे इस हादसें में मृतकों की संख्या बढ़ कर 19 हो गई है. Also Read - Coronavirus: देश में कोविड-19 के कुल मामले हुए 2 लाख 28 हजार, इन राज्यों में एक महीने में दस गुना से अधिक नए मामले

अजमेर के जिला कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट गौरव गोयल ने बताया कि मकान के मलबे में दबे दस और शवों को रविवार को निकाला गया. इससे अब तक मरने वालो की संख्या बढ़ कर 19 हो गई है. अजमेर में भर्ती पांच गंभीर घायलों को जयपुर रैफर किया गया है. मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने ब्यावर हादसे की प्रशासनिक जांच कराए जाने के आदेश दिए हैं. इसके लिए राजस्व मण्डल, अजमेर के अध्यक्ष को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया है. Also Read - राजस्थान: अब कोरोना संक्रमित व्यक्ति के घर के आस-पास लगेगा कर्फ्यू, जानें क्या होंगे नियम

आदेश के अनुसार, जांच अधिकारी राज्य सरकार को एक माह में रिपोर्ट देंगे. वे हादसे के कारणों की जांच करने के साथ ही भविष्य में ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति रोकने के लिए सुझाव भी देंगे. हादसे के लिए किन संबंधित विभागों द्वारा निर्धारित नियमों एवं प्रक्रियाओं का पालन नहीं किया गया और लापरवाही बरती गई, इसकी जांच कर जिम्मेदारी भी तय की जाएगी.