नई दिल्ली: राजस्थान में कांग्रेस सरकार पर संकट के बादल छा गए हैं. सचिन पायलट ने खुली बगावत कर दी है. सचिन पायलट ने कहा है कि राजस्थान में अशोक गहलोत की सरकार अल्पमत में है. अब तक खबर आ रही थी कि 19 विधायक सचिन पायलट के साथ हैं, लेकिन सचिन पायलट ने कह दिया है कि उनके साथ 30 से अधिक विधायक हैं. Also Read - अशोक गहलोत ने कांग्रेस विधायकों को क्यों दिलाई अटल बिहारी वाजपेयी की याद, लिखा ये पत्र

इस बीच सोमवार को जयपुर में होने वाली कांग्रेस विधायक दल की मीटिंग में सचिन पायलट हिस्सा नहीं लेंगे. सचिन पायलट के करीबियों का कहना है कि सचिन पायलट मीटिंग में नहीं जाएंगे. उन्होंने ये सन्देश दिया है कि 30 कांग्रेस विधायक और निर्दलीय विधायक उनके साथ हैं. ये विधायक सचिन पायलट की ओर देख रहे हैं. उन्हें जैसा कहा जाएगा, वैसा ही वह करेंगे. Also Read - राहुल गांधी का मोदी सरकार पर हमला, बोले- जब जब देश भावुक हुआ, फाइलें गायब हुईं

इससे पहले खबर आ चुकी है कि राजस्थान कांग्रेस के 12 विधायक गुरुग्राम के मानेसर स्थित पांच सितारा होटल आईटीसी ग्रैंड भारत में डेरा डाले हुए हैं. कथित तौर पर इन विधायकों ने भारतीय जनता पार्टी को समर्थन करने का निर्णय ले लिया है. लगभग 40 भाजपा विधायकों को भी इसी होटल में रखा गया है, क्योंकि शीर्ष नेतृत्व को लगता है कि ये कांग्रेस के साथ जा सकते हैं. राजस्थान और दिल्ली के प्रभावी भाजपा नेता इन विधायकों लेकर शनिवार शाम यहां पहुंचे. पायलट ने कथित तौर पर शनिवार शाम इन विधायकों से यहां मुलाकात की. Also Read - पंजाब में कांग्रेस का कलह: MP प्रताप सिंह बाजवा के बागी बोल, अमरिंदर सरकार वापस लेगी सिक्‍युरिटी